Friday, Feb 26, 2021
-->
expert warning about covid vaccine stop drug addiction for vaccination pragnt

वैक्सीन को लेकर विशेषज्ञों की चेतावनी- Vaccination के लिए नशा करें बंद

  • Updated on 1/16/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ देश भर में आज से दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण (Vaccination) अभियान शुरू हो गया है। अगर नशा करते हैं और वैक्सीन भी लेना है तो सतर्क हो जाने की जरूरत है। विशेषज्ञों के मुताबिक नशा करने वाले लोगों पर वैक्सीन का असर कम हो सकता है। ऐसे में वैक्सीन लेने के बाद कुछ दिनों तक नशा छोड़ना जरूरी होगा।

दिल्ली: LNJP से CM केजरीवाल की मौजूदगी में होगा कोरोना वैक्सीनेशन का आगाज

रोग प्रतिरोधक क्षमता को प्रभावित कर सकता है नशा
विशेषज्ञों का कहना है कि नशा करने वाले लोगों में आम लोगों के मुकाबले रोग प्रतिरोधक क्षमता कम रहती है। सफदरजंग अस्पताल के सामुदायिक मेडिसिन विभाग के निदेशक और एचओडी प्रो. जुगल किशोर के मुताबिक वैक्सीन किसी भी संक्रमण के खिलाफ शरीर में रोगप्रतिरोधक क्षमता (एंटीबॉडी) विकसित करती है। वैक्सीन लगने के बाद भी नशे की लत जारी रहने पर शरीर में संक्रमण के खिलाफ पर्याप्त तादाद में एंटीबॉडी विकसित नहीं होती है। 

नार्वे की Pfizer वैक्‍सीन पर उठे सवाल, टीका लगवाने के बाद 23 लोगों ने गंवाई जान

टीका लगने के बाद दो हफ्ते रहें नशे से दूर
प्रोफेसर जुगल किशोर के मुताबिक अगर टीका लगवाने के दो हफ्ते तक नशे से दूर रहते हैं उनके शरीर में जरूरी तादाद में एंटीबॉडी विकसित हो जाएगी लेकिन ऐसे लोगों की तादाद बेहद कम है जो नशे को तत्काल छोड़ देते हैं। अगर तत्काल नशा नहीं छोड़ सकते तो धीरे-धीरे छोड़ने की कोशिश करनी चाहिए। इससे शरीर में रोगप्रतिरोधक क्षमता विकसित होने और प्रभाव बेहतर होने में मदद मिलेगी।

पीएम मोदी बोले- आज के दिन का बेसब्री से था इंतजार, आ गई कोरोना वैक्सीन

टीकाकरण आज से
भारत में पहले दिन तीन लाख से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड-19 के टीके की खुराक दिए जाने के साथ शनिवार को दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए दिन में साढ़े दस बजे देश में पहले चरण के कोविड-19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत की। पूरे देश में एक साथ टीकाकरण अभियान की शुरुआत होगी और सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में इसके लिए कुल 3006 टीकाकरण केंद्र बनाए गए हैं।  

चरक पालिका अस्पताल पहुंची 1 हजार डोज कोविशिल्ड, कल से शुरू होगा टीकाकरण

1.65 करोड़ खुराकों का आवंटन
'कोविशील्ड' और 'कोवैक्सीन' की 1.65 करोड़ खुराकों में से सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को डाटाबेस में उपलब्ध स्वास्थ्यकर्मियों की संख्या के हिसाब से टीकों का आवंटन कर दिया गया है। राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को 10 प्रतिशत खुराकों को सुरक्षित रखने और एक दिन में एक सत्र में 100 लोगों के टीकाकरण के लिए कहा गया है। 

राजस्थान: सरकार ने नाइट कर्फ्यू की बढ़ाई अवधि, अगले आदेश तक जारी रहेंगी पाबंदियां

1075 कॉल सेंटर
कोविड-19 महामारी, टीकाकरण की शुरुआत और कोविन सॉफ्टवेयर के संबंध सवालों के जवाब के लिए एक कॉल सेंटर-1075 भी बनाया गया है। सरकार के मुताबिक, सबसे पहले एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों, अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले करीब दो करोड़ कर्मियों और फिर 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को टीके की खुराक दी जाएगी। बाद के चरण में गंभीर रूप से बीमार 50 साल से कम उम्र के लोगों का टीकाकरण होगा। स्वास्थ्यकर्मियों और अग्रिम र्किमयों पर टीकाकरण का खर्च सरकार वहन करेगी। सारे राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने टीकाकरण के लिए तैयारियां पूरी कर ली है। 

ये भी पढ़ें:

comments

.
.
.
.
.