Friday, Dec 09, 2022
-->
family members of shrikant tyagi planted trees again, authority did not remove

श्रीकांत त्यागी के परिजनों ने दोबारा लगाए पेड़, प्राधिकरण ने नहीं हटाए

  • Updated on 10/1/2022

नई दिल्ली,(टीम डिजिटल):दिल्ली से सटे नोएडा के सेक्टर 93बी स्थित ग्रैंड ओमेक्स सोसाइटी में शुक्रवार को दिन में 16 फ्लैट के सामने हो रखे अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई करने वाली नोएडा प्राधिकरण की टीम रात में बेबस नजर आई। श्रीकांत त्यागी के घर के सामने लगे सभी पेड़ों को प्राधिकरण की टीम दिन में नहीं हटा पाई थी। सिर्फ पांच पेड़ हटाए गए। टीम के जाते ही परिजनों ने पेड़ दोबारा से लगा दिए। जानकारी मिलने पर रात को सोसाइटी पहुंची प्राधिकरण की टीम बिना कार्रवाई किए वापस लौट आई। प्राधिकरण की इस लापरवाही की सोशल मीडिया पर आलोचना हो रही है।

सोसाइटी में श्रीकांत त्यागी और अन्य सोसाइटी वालों के बीच विवाद को देखते हुए नोएडा प्राधिकरण ने यहां पर करीब 132 फ्लैट के बाहर हुए अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई का निर्णय लिया था। इनमें से 93 फ्लैट वालों को वर्ष 2019 में नोटिस भी दिया गया था। अब मंगलवार को सोसाइटी पहुंचकर एसीईओ ने अतिक्रमण हटाने के लिए 48 घंटे का वक्त दिया था। तय समय में लोगों द्वारा खुद से अतिक्रमण नहीं हटाने पर शुक्रवार को सोसाइटी में प्राधिकरण ने कार्रवाई की। फ्लैट के बाहर हो रखे अतिक्रमण के अलावा श्रीकांत त्यागी के घर के बाहर करीब 10 पाम के पेड़ लगे थे। प्राधिकरण की टीम सिर्फ 5 पेड़ हटा सकी थी। त्यागी के परिजनों के विरोध के कारण बाकी पेड़ छोड़ दिए गए थे। खास बात यह है कि प्राधिकरण की टीम के सोसाइटी से निकलते ही त्यागी के परिजनों ने पेड़ दोबारा लगा दिए। इसकी शिकायत सोसाइटी के लोगों ने नोएडा प्राधिकरण से की। रात करीब नौ बजे प्राधिकरण की टीम पेड़ों को हटाने के लिए एक बार फिर सोसाइटी पहुंची। मौके पर त्यागी के परिजनों के विरोध के चलते प्राधिकरण टीम को बिना कार्रवाई के वापस लौटना पड़ा।

नोएडा प्राधिकरण की सोशल मीडिया पर हो रही आलोचना 
सोसाइटी में कार्रवाई करने, लेकिन श्रीकांत त्यागी के यहां लगे पेड़ों को नहीं हटाने पर सोशल मीडिया पर प्राधिकरण की आलोचना हो रही है। ट्विटर पर संजीव सिंह ने लिखा कि जब सोसाइटी की एक महिला व श्रीकांत त्यागी के बीच लड़ाई पेड़ लगाने को लेकर ही हुई थी और उसी कॉमन एरिया में पेड़ दोबारा से लग गए लेकिन प्राधिकरण कार्रवाई नहीं कर सका जबकि बाकी लोगों के फ्लैटों का नुकसान कर दिया। एक अन्य यूजर रमित लिखते हैं कि प्राधिकरण ने त्यागी के यहां सिर्फ दिखावे के लिए कार्रवाई की।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.