Saturday, May 08, 2021
-->
famous-astrologer-bejan-daruwala-dies-due-to-corona-virus-prsgnt

बीमारी से पहले विश्वविख्यात बेजान दारूवाला ने की थी कोरोना वायरस के लिए भविष्यवाणी

  • Updated on 5/29/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश के चर्चित ज्योतिषी बेजान दारूवाला का निधन हो गया है। वो 90 साल के थे। बताया जा रहा है कि वो कोरोना संक्रमित थे लेकिन उनके बेटे नास्तुर ने इस दावे को गलत बताया है। बेटे ने बताया कि दारूवाला की मौत फेफड़ों के इन्फेक्शन और सांस लेने में दिक्कत होने के कारण हुई है।

गुजरात के अहमदाबाद में 11 जुलाई 1931 को एक पारसी परिवार में जन्मे बेजान दारुवाला सामान्य परिवार से ताल्लुक रखते थे। उनके पिता एक कारखाने में कामगार थे। उनकी पढ़ाई अहमदाबाद में हुई और आगे चले कर वो अंग्रेजी के प्रोफेसर के बने। उन्हें पढ़ने का बेहद शौक था इसलिए उन्होंने विदेशी किताबों को खूब पढ़ा था।

इजरायल ने बनाई 3800 कीमत वाली कोरोना टेस्टिंग किट, एक मिनट में देगी रिजल्ट

बताया जाता है कि उनके पढ़ने के शौक ने ही उन्हें ज्योतिष बनाया। उनका ज्योतिषशास्त्र देशभर के तमाम अखबारों और टीवी चैनलों के जरिए लोगों तक पहुंचता था।

मोदी के लिए की थी भविष्यवाणी
बेजान दारूवाला ने अपनी ज्योतिष विद्या को लोगों तक पहुंचाने के लिए 25 अप्रैल 2003 को वेबसाइट का शुरूआत मुंबई के होटल ताजमहल में की थी। इसके बाद इंटरनेट पर अपनी ज्योतिषी सेवाओं का शुरू करने के लिए उन्होंने अपने निजी समूह का सहारा लिया।

बेजान दारूवाला की भविष्यवाणी बेहद सटीक मानी जाती है इसका एक उदहारण ये भी है कि उन्होंने संजय गांधी दुर्घटना और 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जीत की भविष्‍यवाणी की थी।

इंसानी जींस बताते हैं कैसे लड़ेगा कोरोना वायरस से आपका शरीर- शोध

भारतीय और पश्चिमी ज्योतिष को जोड़ना चाहते थे
दारूवाला के बारे में बताया जाता है कि वो एक पारसी होने के बाद भी गणेश भगवान के बड़े भक्त थे, उपासक थे। एक भारतीय होने के बाद भी उन्होंने अपनी ज्योतिषीय तकनीक आई-चिंग, टैरो रीडिंग, कबालाह और हस्तकला के जरिए भारतीय और पश्चिमी ज्योतिष को जोड़ने का काम किया था।

साइटोकाइन थेरैपी से जल्द होगा अब कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज, ट्रायल को मिली अनुमति

दुनिया में मिली पहचान
बेजान दारूवाला की सटीक भविष्यवाणियों के कारण उन्हें देश और विदेश दोनों जगह काफी नाम मिला। इसके अलावा उन्हें कई प्रशस्तियां और बड़ी पहचान मिली थी। दारूवाला अपने अलग तरीकों और वैदिक और पश्चिमी ज्योतिष सिद्धांत द्वारा आई-चिंग, टैरोट, अंकशास्त्र, काबाला और हस्त रेखा शास्त्र के सिद्धांतो को जोड़कर सयुंक्त भविष्यवाणी करने के लिए जाने जाते थे।

उन्होंने कोरोना वायरस को लेकर भी भविष्यवाणी की थी कि कोरोना वायरस के कारण अब एक  कठिन समय होने वाला है।

कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरों को यहां पढ़ें...

comments

.
.
.
.
.