Friday, Apr 23, 2021
-->
farmer protest shocks economy back on track loss of crores so far pragnt

पटरी पर लौटती अर्थव्यवस्था को किसान आंदोलन से झटका, अब तक हुआ करोड़ों का नुकसान

  • Updated on 1/27/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्र सरकार (Central Government) के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) को वापस लेने की मांग पर अड़े किसानों (Farmers) का आंदोलन 63वें दिन भी जारी है। पिछले 60 दिनों से भी अधिक समय से देश व दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के आंदोलन से देश को प्रति दिन 35 सौ करोड़ का नुकसान हा रहा है। यह आकलन उद्योग चैंबर ने किया है।

किसान ट्रैक्टर रैली हिंसा में 150 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल, 45 के करीब ट्रॉमा सेंटर में भर्ती

किसान आंदोलन से अब तक हो चुका है करोड़ों का नुकसान
उद्योग चैम्बर के सदस्यों ने सरकार से व किसानों से इस गतिरोध को दूर करने के लिए कोई रास्ता निकालने की अपील की है। उद्योग चैंबर कंफडरेशन ऑफ  इंडियन इंडस्ट्रीज का भी कहना है नोटबंदी के बाद कोरोना के कारण अव्यवस्थित हुई। अर्थव्यवस्था को किसान आंदोलन से काफी नुकसान हो रहा है। किसानों के आंदोलन पर इंडस्ट्री चैंबर्स ने कहा कि इससे इकोनॉमी को भारी नुकसान खासकर उत्तर-पश्चिम भारत की इकोनॉमी पर बुरा असर पड़ रहा है। 

दिल्‍ली में हिंसा के बाद पंजाब-हरियाणा में हाई अलर्ट, इन जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद

कई तरह के उद्योगों को नुकसान 
एसोचैम का दावा है कि किसान आंदोलन से पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश जैसे परस्पर जुड़े आर्थिक क्षेत्रों के लिए व्यापक रूप से नुकसानदेह साबित हो रहा है। ये राज्य कृषि और वानिकी के अलावा फूड प्रोसेसिंग, कॉटन टेक्सटाइल, ऑटोमोबाइल, फार्म मशीनरी, आईटी जैसे कई प्रमुख उद्योगों के भी केंद्र हैं। इन राज्यों में टूरिज्म, ट्रेडिंग, ट्रांसपोर्ट और हॉस्पिटलिटी जैसे सर्विस सेक्टर भी काफी मजबूत हैं। विरोध प्रदर्शन होने से इन सभी को काफी नुकसान हो रहा है। 

दीप सिद्धू के साथ नाम जुड़ने के बाद सनी देओल ने दी सफाई, बोले- नहीं उससे कोई संबंध

आंदोलन से इस पर असर के आसार
एसोचैम का कहना है कि कई राजमार्गों के बाधित होने से माल की आवाजाही के लिए दूसरे वैकल्पिक रास्ते अपनाने पड़ रहे हैं और इससे लॉजिस्टिक लागत में 8 से 10 फीसदी की बढ़त हो सकती है। इसकी वजह से दैनिक उपभोग की कीमतें और बढ़ सकती हैं। 

किसान ट्रैक्टर परेड में हिंसा : सोशल मीडिया में दीप सिद्धू  को लेकर उठे सवाल

18 लाख करोड़ की इकोनॉमी 
एसोचैम के प्रेसिडेंट डॉ. निरंजन हीरानंदानी के अनुसार पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर की संयुक्त अर्थव्यवस्था करीब 18 लाख करोड़ रुपए की है। आंदोलन से राज्यों की आर्थिक गतिविधियां ठप पड़ गई हैं। 

Farmer Protest: झण्डा फहराने वाले दीप सिद्धू ने दी सफाई, बोले- नहीं हटाया तिरंगा

कोविड के बाद यह बड़ा झटका 
दूसरी तरफ एक और इंडस्ट्री चैंबर सीआईआई का भी कहना है कि किसानों के आंदोलन से अगले दिनों में अर्थव्यवस्था को नुकसान होगा और कोविड से गिरी अर्थव्यवस्था में जो सुधार हो रहा था, आंदोलन से बुरा असर पड़ सकता है। 

आचार्य प्रमोद का तंज-  लाल किले का इतना “अपमान” तो किसी “कमजोर” PM के दौर में भी नहीं हुआ

लाल किले के हुड़दंग में 40 पुलिसकर्मी घायल
करीब 1:30 बजे तक सब कुछ सामान्य रहा, लेकिन आईटीओ पुलिस हेड क्वार्टर से शुरू हुए हंगामे के बाद हजारों की संख्या में लोग चांदनी चौक और सिविल लाइन के रास्ते लाल किले पर पहुंचे और एकाएक उसके दरवाजे की एंट्री पर लगी बैरिकेडिंग को तोड़ दिया। इसमें से कुछ पैदल, कुछ ट्रैक्टर और यहां तक कि कुछ घोड़ों पर सवार होकर वहां पहुंचे थे। जिसके बाद हजारों की संख्या में किसान लाल किले की दीवारों पर चढ़ गए और उसे अपने कब्जे में ले लिया।

किसान ध्वज स्तंभ पर भी चढ़ गए। इसी बीच एक युवक ने लाल किले में ध्वज स्तंभ पर एक त्रिकोण आकार का झंडा फहरा दिया। पुलिस के अधिकारी और पैरामिलिट्री फोर्स मौके पर पहुंची और किसानों को हटाने की कोशिश की तभी हंगामा शुरू हो गया हो गया। मौके पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और बल प्रयोग किया गया। इस मौके पर पुलिस और किसानों की भिड़ंत में 40 से अधिक पुलिसकर्मी और 15 से ज्यादा किसान गंभीर रूप से घायल हुए हैं।

हिंसा से आहत संयुक्त किसान मोर्चा ने तत्काल प्रभाव से किसान ट्रैक्टर परेड वापस ली

किसानों ने तोड़ा पुलिस का विश्वास
स्थिति की समीक्षा के लिए गृह मंत्री अमित शाह ने आंतरिक सुरक्षा पर बैठक की जिसमें गृह सचिव अजय भल्ला, पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव भी मौजूद थे। किसानों का आरोप है कि पुलिस ने रैली निकालने नहीं दी। वहीं पुलिस ने कहा है कि किसानों ने उनके विश्वास को तोड़ा और तय 37 शर्तों में से एक का भी पालन नहीं किया। पूरी घटना को लेकर अब तक 15 एफ आई आर दर्ज की गई है। राजधानी दिल्ली में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.