Wednesday, May 12, 2021
-->
farmers descended on the streets of delhi with thousands of tractors parade pragnt

दिल्ली की सड़कों पर हजारों टैक्टर के साथ उतरे किसान, जानिए पूरे परेड का हाल

  • Updated on 1/26/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। गणतंत्र दिवस (Republic Day) के दिन केंद्र के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ हजारों संख्या में किसान ट्रैक्टर लेकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में प्रवेश कर चुके हैं। पिछले दो महीनों से अधिक समय से आंदोलन कर रहे किसान आज 26 जनवरी के मौके पर ट्रैक्टर रैली कर रहे हैं। इस दौरान कई जगहों से पुलिस और किसानों के बीच भिड़ंत की देखी गई हैं।

तय वक्त से पहले शुरु की परेड
आपको बता दें कि किसानों ने तय समय से काफी पहले दिल्ली में ट्रैक्टर परेड शुरू की है। जानिए कहां और किस जगह किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़े हैं और पुलिस ने कहा-कहां किसानों पर आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया है।

  • दिल्ली के मयूर विहार इलाके में किसान प्रदर्शनकारियों ने पुलिस बैरिकेडिंग तोड़ी।
  • किसानों को समझाने की कोशिश जारी, किसान नहीं माने तो सड़क पर बैठ गए पुलिसकर्मी
  • दिल्ली में प्रदर्शनकारी किसानों ने आईटीओ इलाके में पुलिसकर्मियों पर हमला किया। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ी में भी तोड़-फोड़ की।
  • ट्रैक्टर रैली के दौरान कुछ जगह पर हो रही हिंसा पर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा, 'ट्रैक्टर रैली शांतिपूर्ण तरीके से चल रही है। ये मेरी जानकारी में नहीं है।'
  • दिल्ली के प्रदर्शनकारी किसानों ने आईटीओ इलाके में एक डीटीसी बस में तोड़फोड़ की। 
  • दिल्ली में कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों की ट्रैक्टर रैली दिलशाद गार्डन पहुंची। पुलिस किसानों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल कर रही है।
  • दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर रैली गाज़ीपुर बॉर्डर से ITO के पास सराय काले खां पहुंची।
  • कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शनकरी किसानों ने करनाल बाईपास पर दिल्ली के अंदर प्रवेश करने के लिए पुलिस बैरिकेडिंग तोड़ी।
  • कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर पांडव नगर के पास पुलिस बैरिकेडिंग को हटाया।

यूपी में शांति, कहीं भी लाठी चार्ज नहीं
किसानों की ट्रैक्टर रैली पर यूपी के ADG (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा, 'अभी तक पूरे उत्तर प्रदेश में सब कुछ सकुशल चल रहा है। सभी लोग हमारे किसानों से लगातार वार्ता कर रहे हैं। अभी तक शांति है। उत्तर प्रदेश में कहीं भी लाठीचार्ज नहीं किया गया है।'

टैक्टर रैली से पहले NH24 पर किसानों ने तोड़ा बैरिकेड, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

मुकरबा चौक पर किसानों और पुलिस पर झड़प
दिल्ली के मुकरबा चौक पर लगाए गए बैरिकेड और सीमेंट के अवरोधकों को ट्रैक्टरों से तोड़ने की कोशिश कर रहे किसानों के समूह पर मंगलवार को पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। राष्ट्रीय राजधानी के सिंघू, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के कुछ समूह मंगलवार सुबह दिल्ली पुलिस द्वारा ट्रैक्टर परेड के लिए निर्धारित किए गए समय से पहले अवरोधकों को तोड़कर दिल्ली में दाखिल हो गए थे।

पंजाब: ट्रैक्टर रैली को लेकर CM अमरिंदर सिंह ने की किसानों से शांति बनाए रखने की अपील

किसानों पर आंसू गैस के दागे गए गोले
अधिकारी ने बताया कि पुलिस कर्मियों ने सिंघू बॉर्डर पर किसानों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। वे तय समय से पहले आउटर रिंग रोड की ओर मार्च करने की कोशिश कर रहे थे। राष्ट्रीय राजधानी के सीमा बिंदुओं पर ट्रैक्टरों का जमावड़ा दिखाई दिया जिन पर झंडे लगे हुए थे और इनमें सवार पुरुष व महिलाएं ढोल की थाप पर नाच रहे थे। सड़क के दोनों ओर खड़े स्थानीय लोग फूलों की बारिश भी कर रहे थे। वहीं, सुरक्षा कर्मी किसानों को समझाने की कोशिश कर रहे थे कि वे राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड खत्म होने के बाद तय समय पर परेड निकालें।

Tractor Rally के नाम पर हुड़दंग, ITO समेत कई मेट्रो स्टेशन करने पड़े बंद

सिंघू, टिकरी बॉर्डर पर अवरोधक तोड़
बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी से लगे सिंघू और टिकरी बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के कुछ समूह मंगलवार को पुलिस के अवरोधकों को तोड़कर दिल्ली में दाखिल हो गए। इसके बाद ये किसान काफी समय तक मुकरबा चौके पर बैठे, लेकिन फिर उन्होंने वहां लगाए गए बैरिकेड और सीमेंट के अवरोधक तोड़ने की कोशिश की। इसके बाद किसानों के समूह पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे।

पंजाब के मोगा में दुल्हे को छोड़कर भागी दुल्हन, घर में लगा ताला

दिल्ली में दाखिल हुए किसान
अधिकारियों के अनुसार सुरक्षा कर्मियों ने किसानों को समझाने की कोशिश भी की और कहा कि राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड के खत्म होने के बाद उन्हें दिल्ली में ट्रैक्टर परेड करने की अनुमति दी गई है> इसके बावजूद कई ट्रैक्टर नजर आए, जिन पर तिंरगे लगे थे। इनके साथ पुरुष और महिलाएं ढोल पर नाचते नजर आए। सड़क के दोनों ओर खड़े स्थानीय लोग फूलों की बारिश भी कर रहे थे। कुछ किसान हाथ में विभिन्न किसान संगठनों के झंडे लिए और नारे लगाते पैदल चलते भी नजर आए। कुछ मोटर साइकिल और घोड़ों पर सवार थे। लोग अपने ट्रैक्टरों के ऊपर खड़े होकर नारे लगाते और क्रांतिकारी गीत गाते भी दिखे।

Republic Day Parade 2021: राफेल फाइटर जेट के साथ गणतंत्र दिवस समारोह का हुआ समापन

रोड की ओर जाने की जिद शुरू की
स्थानीय लोगों ने मार्च में शामिल किसानों को खाद्य पदार्थ और पानी की बोतलें बांटी। मौके पर मौजूद पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इससे पहले बताया था कि किसानों के कुछ समूह अवरोधक तोड़कर राष्ट्रीय राजधानी में दाखिल हो गए। उन्होंने कहा, 'पुलिस और किसानों के बीच इस बात को लेकर सहमति बनी थी कि वे निर्धारित समय पर परेड शुरू करेंगे, लेकिन वे जबरन दिल्ली में दाखिल हो गए । तय मार्ग के अनुसार उन्हें बवाना की ओर जाना था लेकिन उन्होंने आउटर रिंग रोड की ओर जाने की जिद शुरू कर दी।'

राजस्थान: पेट्रोल की कीमत से जनता बेहाल, 100 रुपए के पार पहुंचे दाम

किसानों ने कहा था ये
दिल्ली पुलिस ने वार्षिक गणतंत्र दिवस परेड के बाद किसानों को ट्रैक्टर परेड निकालने की रविवार को अनुमति दे दी थी। प्रदर्शनकारियों को कहा गया था कि वे राजपथ के जश्न को बाधित नहीं कर सकते, इस पर किसानों ने इस बात पर जोर दिया था कि उनकी परेड 'शांतिपूर्ण' होगी। अधिकारी ने कहा, 'लेकिन किसानों के कुछ समूह माने नहीं और पुलिस के अवरोधक तोड़ कर आउटर रिंग रोड की ओर बढ़ने लगे।'

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.