Sunday, Apr 18, 2021
-->
farmers leader rakesh tikait said they run sticks on us we will sing national anthem rkdsnt

किसान नेता राकेश टिकैत बोले- वो हम पर लाठी चलाएंगे और हम राष्ट्रगान गाएंगे

  • Updated on 1/10/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त किये जाने की मांग को लेकर केंद्र और किसानों में गतिरोध के बीच भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने रविवार को यहां कहा 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस की परेड में एक तरफ टैंक चलेंगे तो दूसरी तरफ हमारे तिरंगा लगे हुए ट्रैक्टर। टिकैत ने कहा, ‘‘26 जनवरी को दिल्ली में गणतंत्र दिवस की परेड में एक तरफ टैंक चलेंगे और दूसरी तरफ हमारे तिरंगा लगे हुए ट्रैक्टर। वो हम पर लाठी चलाएंगे और हम राष्ट्रगान गाएंगे।‘‘ 

मोदी सरकार ने अघोषित विदेशी संपत्ति की जांच के लिए आयकर विभाग में बनाई न्यू स्पेशल यूनिट

बागपत के बड़ौत में किसानों के धरने में पहुंचे राकेश टिकैत ने दावा किया कि जब तक तीन कृषि क़ानूनों की वापसी नहीं होती तब तक किसानों की घर वापसी नहीं होगी।     उन्होंने बताया कि एक तरफ दिल्?ली में किसान आंदोलन चल रहा है और दूसरी तरफ 26 जनवरी की परेड में शामिल होने के लिए किसान बड़ी तैयारी में जुटे हैं।     टिकैत ने कहा कि राजनीति और चुनाव से नहीं बल्कि किसानों के आंदोलन से सब कुछ ठीक होगा। 

भाजपा के कार्यक्रम को बाधित करने का प्रयास किया 
केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के एक समूह ने रविवार को पंजाब के जालंधर जिले में भाजपा के एक कार्यक्रम को बाधित करने का प्रयास किया। किसानों ने केंद्र तथा पंजाब के भाजपा नेतृत्व के खिलाफ नारे लगाए। अधिकारियों ने बताया कि कानून-व्यवस्था कायम रखने की खातिर पंजाब पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर रखे थे। उन्होंने बताया कि जालंधर के कंपनी बाग में हो रहे भाजपा के कार्यक्रम को प्रदर्शनकारी बाधित नहीं कर सकें, इसलिए अवरोधक लगाए गए थे तथा अन्य इंतजाम किए गए थे। 

हरियाणा के बाद यूपी के खास शहर में भी बर्ड फ्लू का कहर, योगी सरकार का अलर्ट

हाथों में काले झंडे लिए किसानों ने अवरोधकों को तोडऩे के प्रयास किया तथा उस स्थल पर जाने की कोशिश की जहां राज्य के भाजपा नेता प्रदेश की कांग्रेस सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रहे थे। कुछ किसान उस स्थल तक पहुंचने में सफल रहे लेकिन पुलिस उन्हें पकड़कर ले गई। पंजाब भाजपा प्रमुख अश्विनी शर्मा भी इस प्रदर्शन में हिस्सा लेने जालंधर आए थे। बाद में संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि प्रदर्शन करने वाले लोग किसान नहीं थे। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे पूरा भरोसा है कि किसान इस तरह की चीजों में शामिल नहीं हो सकते।’’

उत्तर प्रदेश : मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि-ईदगाह विवाद में होगी कोर्ट सुनवाई

 

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.