Tuesday, Jan 25, 2022
-->
farmers parade violence republic day court defer its order cognizance of charge sheet rkdsnt

गणतंत्र दिवस पर किसान परेड हिंसा: कोर्ट ने आरोप पत्र पर संज्ञान लेने संबंधी अपने आदेश को टाला

  • Updated on 5/28/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली की एक अदालत ने गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा मामले में अभिनेता-कार्यकर्ता दीप सिद्धू और 15 अन्य के खिलाफ दायर आरोप पत्र पर संज्ञान लेने के बिंदु पर अपना आदेश 17 जून तक टालते हुए शुक्रवार को कहा कि अभियोजन की मंजूरी का इंतजार है। 

AAP ने कोरोना वैक्सीन को लेकर मोदी सरकार पर लगाए आरोप, पूछे 5 सवाल

मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट गजेंद्र सिंह नागर ने कहा कि महामारी रोग अधिनियम, आपदा प्रबंधन अधिनियम और शस्त्र अधिनियम के तहत अभी भी संबंधित अधिकारियों से मंजूरी का इंतजार है।  न्यायाधीश ने आरोप पत्र की प्रति आरोपी के वकील को देने से भी इनकार कर दिया। हालांकि, उन्हें अदालत आने पर अंतिम रिपोर्ट का निरीक्षण करने की अनुमति दी गई है। अभियोजक ने अदालत को बताया कि उनके द्वारा मंजूरी प्राप्त करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

 कोर्ट से Twitter को आईटी नियमों का पालन करने, शिकायत निवारण पर दिया निर्देश 

उन्होंने कहा, ‘‘हम जल्द ही पूरक आरोप पत्र दाखिल करेंगे।’’ गौरतलब है कि 26 जनवरी को केन्द्र के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की ‘ट्रैक्टर परेड’’ के दौरान प्रदर्शनकारी किसानों का पुलिसर्किमयों से संघर्ष हो गया था जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गये थे। 

स्वामी रामदेव के बचाव में उतरे बालकृष्ण, एलोपैथी पर बोला हमला

दिल्ली पुलिस ने 17 मई को 3,224 पृष्ठ का आरोप पत्र दायर किया था। इस मामले में 16 आरोपियों में से 14 अभी न्यायिक हिरासत में है। सिद्धू को नौ फरवरी को गिरफ्तार किया गया था।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.