Saturday, Jan 22, 2022
-->
farmers protest rakeshtikait rail stopped only at station not middle way kmbsnt

किसान आंदोनल: सिर्फ स्टेशन पर रोकी जाएगी रेल, बीच रास्ते में नहीं- टिकैत

  • Updated on 2/16/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के खिलाफ दो महीने से अधिक समय से आंदोलन कर रहे किसान 18 फरवरी को रेल रोको अभियान (Rail Roko Campaign) शुरू कर रहे हैं। इस अभियान के लिए अब जब महज एक दिन का समय बाकी है। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि रेल केवल स्टेशनों पर ही रोकी जाएगी, बीच रास्ते में किसी भी रेल को रोका नहीं जाएगा। 18 फरवरी को दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक रेल रोको अभियान चलेगा। 

राकेश टिकैत ने बताया कि किसान इंजन पर फूल चढ़ाकर रेल रोकेंगे और 3-4 घंटे के लिए जब तक रेल रुकेगी उस दौरान रेल में बैठे यात्रियों को किसानों द्वारा चाय नाश्ता करवाया जाएगा। वहीं रेल में बैठे यात्रियों को देश में बढ़ रही महगांई के बारे में भी बताया जाएगा। इसके साथ ही किसान जिन समस्याओं का सामना कर रहे हैं उनसे भी यात्रियों को अवगत करवाया जाएगा। 

BJP नेता और टिक टॉक स्टार सोनाली फोगाट के घर हुई चोरी, चोर ले उड़े लाइसेंसी रिवॉल्वर

गांव से किसान लाएंगे यात्रियों के लिए खाने का सामान
टिकैत ने रेल रोको अभियान की रणनीति साझा करते हुए कहा कि यूपी गेट पर आंदोलनरत किसान यहीं प्रदर्शनस्थल पर रुकेंगे। अन्य किसान अपने-अपने गांवों से नजदीकी रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे। वहां पहुंच ये लोग 12 बजे से रेल रोकेंगे। रेल रोकने से पहले किसान इंजन पर फूल माला चढ़ाएंगे। इसके बाद यात्रियों को चाय-नाश्ता दिया जाएगा। यात्रियों के लिए खाने-पीने का सामान किसान अपने गांव से लेकर आएंगे। 

भारतीय किसान यूनियन प्रवक्ता राकेश टिकैत इन दिनों अपनी करोड़ों की संपत्ति को लेकर खासा चर्चा में है। राकेश टिकैत इस बात पर भी खासे नाराज हैं कि कुछ मीडिया समेत लोगों ने उनकी संपत्ति को लेकर गलत जानकारी प्रसारित की है। वो ऐसा करने वालों पर मानहानि का केस भी करेंगे। उनका कहना है कि आंदोलन का संपत्ति से क्या मतलब है?

गाजीपुर बॉर्डर : धरना स्थल पर महिलाओं की संख्या में भारी कमी

टिकैत की संपत्ति पर उठे सवाल
उनकी संपत्ति को लेकर उठाए जा रहे सवालों पर किसान नेता टिकैत ने कहा है कि लोगों ने कम आकलन किया है। ज्यादा करना चाहिए। बहुत संपत्ति है हमारे पास। उन्होंने संपत्ति को लेकर किए गए खुलासे पर तंज कसते हुए कहा है कि हमें भी नहीं पता है कि कितनी संपत्ति है। कई हजार करोड़ की होगी। उन्होंने मजाकिया अंदाज में कहा कि संपत्ति का पता लगाने के लिए कई पटवारी, अधिकारी और सरकार लगानी पड़ेगी तब जांच होगी।

मिली जानकारी के मुताबिक राकेश टिकैत की देश के 4 राज्यों में 13 शहरों में संपत्तियां हैं। इन सारी संपत्तियों की कीमत करोड़ों में बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि टिकैत की उत्तर प्रदेश और दिल्ली समेत 4 राज्यों में संपत्ति है। इनमें जमीने भी है। दिल्ली के अलावा मुजफ्फरनगर, ललितपुर, झांसी, लखीमपुर खीरी, बिजनौर, बदायूं, नोएडा, गाजियाबाद, देहरादून, रुड़की, हरिद्वार और मुंबई में संपत्ति है। इनकी कीमत कई करोड़ रुपए है। राकेश टिकैत के पास खेती की जमीनों के साथ रिहायशी जमीने, पेट्रोल पंप, शोरूम, ईंटों के भट्टे और अन्य कारोबार भी है। 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.