Thursday, May 06, 2021
-->
farmers protest today farmers will jam kmp and kgp highway kmbsnt

Farmers Protest: किसानों ने जाम किया केएमपी हाइवे, स्थिति संभालने की कोशिश में पुलिस

  • Updated on 4/10/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। किसानों ने KMP हाइवे को जाम कर दिया है। पुलिस का कहना है कि हम लोग जल्दी ही इसे खाली कराने के लिए बात कर रहे हैं ताकि लोगों को असुविधा न हो। लोग अपने वैकल्पिक रूट पर जा रहे हैं। जो भी उपयुक्त स्थान है वहां से डायवर्जन किया जा रहा है। लोग वहां से अपने गंतव्य की तरफ जा रहे हैं

बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा ने किसान आंदोलन (Farmers Protest) की रणनीति को धार देते हुए 24 घंटे के लिए दिल्ली के दो प्रमुख हाइवे जाम करने की घोषणा की है। किसान मोर्चा ने ऐलान किया है कि आज यानी शनिवार 10 अप्रैल को सरकार को चेतावनी देने के लिए सुबह 8:00 से 11 अप्रैल सुबह 8:00 बजे तक 24 घंटे केएमपी और केजीपी हाईवे को जाम किया जाएगा।

डॉ दर्शन पाल ने बताया कि इस दौरान केजीपी, ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे और कोएमपी पर वाहनों की आवाजाही नहीं होगी। इसके साथ ही 13 अप्रैल को दिल्ली के बॉर्डर पर खालसा पंथ का स्थापना दिवस मनाया जाएगा और साथ ही जलियांवाला बाग हत्याकांड की बरसी पर शहीदों के सम्मान में कार्यक्रम होंगे।

कोरोना का कहर! राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में सभी नॉनकोविड सेवाएं आज से स्थगित

14 अप्रैल को संविधान बचाओ दिवस और किसान बहुजन एकता दिवस
उन्होंने बताया कि 14 अप्रैल को संविधान बचाओ दिवस और किसान बहुजन एकता दिवस मनाया जाएगा। इस दिन संयुक्त किसान मोर्चा की सभी स्टेज बहुजन समाज के आंदोलनकारी चलाएंगे और सभी वक्ता भी बहुजन होंगे। किसान नेताओं ने कहा कि नफरत और बंटवारे की भावना से भाजपा के नेता किसानों और मजदूरों को आपस में दुश्मन के तौर पर पेश करते हुए, हरियाणा के विभिन्न कार्यक्रम कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि हम सभी दलित बहुजन व किसानों से अपील करते हैं कि शांतमयी रहते हुए इन ताकतों का विरोध करें। इस दिन कैथल में हरियाणा के किसान विरोधी उपमुख्यमंत्री ने जानबूझकर एक कार्यक्रम रखा है। हम किसानों और दलित बहुजन ओं से अपील करते हैं कि शांत रहते हुए ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचकर इस कार्यक्रम को रद्द करवाएं।

18-20 अप्रैल में होंगे ये कार्यक्रम 
किसान नेताओं ने कहा कि 18 अप्रैल को सभी मोर्चों पर आसपास के लोगों का सम्मान किया जाएगा और उस दिन मंच संचालन की जिम्मेदारी भी उन्हें दी जाएगी। जबकि 20 अप्रैल को धन्ना भगत की जयंती पर उनके गांव धुंआ कला से दिल्ली की सीमाओं पर मिट्टी लाई जाएगी व उनकी याद में टिकरी बॉर्डर मोर्चे पर कार्यक्रम होंगे।

दिल्ली का सर गंगाराम अस्पताल बना कोरोना हॉट स्पॉट! एक साथ 37 डॉक्टर संक्रमित

आंदोलन को देशव्यापी स्तर पर तेज करने की तैयारी 
24 अप्रैल को इस मोर्चे के 150 दिन होने पर एक हफ्ते के विशेष कार्यक्रम होंगे। जिसमें किसान मजदूरों के साथ-साथ कर्मचारी, विद्यार्थी, नौजवान, कारोबारी व अन्य संगठनों को दिल्ली मोर्चा में शामिल होने का आह्वान किया जाएगा। किसानों ने कहा कि अप्रैल के आखिरी सप्ताह में देश भर में किसान आंदोलन को समर्थन देने वाले संगठनों की कन्वेंशन की जाएगी। जिसमें इस आंदोलन को देशव्यापी स्तर पर तेज करने की योजना बनाई जाएगी।  

ये भी पढ़ें:

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.