Thursday, Jan 20, 2022
-->
farmers-tractors-break-on-march-will-wait-for-government-s-reply-till-december-4

किसानों के ट्रैक्टर मार्च पर ब्रेक, 4 दिसंबर तक सरकार के जवाब का करेंगे इतंजार

  • Updated on 11/27/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। किसानों का 29 नवंबर को होने वाला ट्रैक्टर मार्च स्थगित हो गया है। सिंघु बॉर्डर पर शनिवार को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में इस पर फैसला लिया गया। अब 4 दिसंबर को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक होगी, जिसमें सरकार के रुख की समीक्षा करके आगे की रणनीति बनाई जाएगी। ऐसा माना जा रहा है कि किसान संगठनों ने सरकार के रुख में नरमी बरतते हुए मार्च पर अपना अडिय़ल रवैया छोड़ दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कृषि कानूनों की वापसी के ऐलान और अब उस पर केंद्रीय कैबिनेट की मुहर लगने के बाद भी किसान आंदोलन खत्म फिलहाल जारी है। आंदोलन को एक साल पूरा होने पर शुक्रवार को दिल्ली बॉर्डरों पर किसानों की भीड़ ने शक्ति प्रदर्शन किया। 29 नवंबर को शुरू हो रहे संसद सत्र के दौरान सिंघु और टीकरी बॉर्डर से 500-500 ट्रैक्टरों के साथ संसद कूच का ऐलान पहले से प्रस्तावित था, जिसे टाल दिया गया है।

संयुक्त किसान मोर्चा गाजीपुर बॉर्डर के प्रवक्ता जगतार सिंह बाजवा का कहना कि संसद में जब तक कानून निरस्त होने की प्रक्रिया पूरी नहीं होती और अन्य मांगों पर कोई फैसला नहीं होता, तब तक वे बॉर्डर पर डटे रहेंगे। किसान आंदोलन को जारी रखने की सबसे बड़ी मांग अब एमएसपी की उठाई जा रही है। इसे आंदोलन की शुरूआत से ही किसान अपनी मुख्य मांगों में शामिल किए हुए हैं। संयुक्त किसान मोर्चा ने पत्र के जरिए सरकार को अपनी मंशा बता दी है। जगतार सिंह बाजवा ने कहा कि किसान 4 दिसंबर तक सरकार के जवाब का इंतजार करेंगे। 4 दिसंबर को फिर से बैठक होगी। जिसमें आगे की रणनीति पर फैसला लिया जाएगा। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.