Friday, Oct 07, 2022
-->
Farmers United Kisan Morcha SKM opened front against BJP in West Bengal rkdsnt

यूपी, हरियाणा के बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने बंगाल में BJP के खिलाफ खोला मोर्चा

  • Updated on 3/12/2021

​​​नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। विभिन्न किसान संघों के संगठन संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के किसानों और अन्य लोगों से आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा को वोट नहीं देने का अनुरोध किया। मोर्चा ने कहा कि चुनावी हार केंद्र की भाजपा नीत सरकार को तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए मजबूर करेगी। 

राहुल गांधी बोले- अधिनायकवादी ताकतों की गिरफ्त में जा रहा है भारत, निशाने पर RSS

एसकेएम नेता योगेंद्र यादव ने संवाददाताओं से कहा, 'हम किसी भी पार्टी का समर्थन नहीं कर रहे हैं या लोगों से यह नहीं कर रहे हैं वे किसे वोट दें लेकिन हमारी एकमात्र अपील है कि भाजपा को सबक सिखाया जाए।' एसकेएम ने एक पत्र भी जारी किया जिसमें राज्य के किसानों से भाजपा को वोट नहीं देने का आग्रह किया गया है। 

CBI डायरेक्टर की नियमित नियुक्ति संबंधी याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब

मोर्चा ने पत्र में कहा कि चुनाव में हार से केंद्र सरकार कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए मजबूर होगी। सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर ने भाजपा पर ‘‘देश कुछ कॉरपोरेटों को बेचने' की कोशिश करने का आरोप लगाया और लोगों से अपने मताधिकार का प्रयोग सावधानीपूर्वक करने का आग्रह किया। 

धार्मिक स्थलों से जुड़े कानून के खिलाफ याचिका पर मोदी सरकार से मांगा जवाब

किसानों के आंदोलन को अपमानित करने के लिए केंद्र की निंदा करते हुए पाटकर ने आरोप लगाया कि ब्रिटिश शासकों ने भी ऐसे कृत्यों का सहारा नहीं लिया जैसा वर्तमान सरकार कर रही है। उन्होंने पश्चिम बंगाल विधानसभा में कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित किए जाने का स्वागत किया। 

स्कैनिया स्कैम : कांग्रेस गडकरी पर लगे आरोपों को लेकर मोदी सरकार पर हमलावर

 

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

 


 

comments

.
.
.
.
.