Wednesday, May 12, 2021
-->
fear of long wait people are gathering and going for vaccination albsnt

लंबे इंतजार के डर से लोग एकत्र होकर जा रहे हैं वैक्सीनेशन के लिए

  • Updated on 4/17/2021

नई दिल्ली/नवोदय टाइम्स। कोरोना के बढते मामलों को देखते हुए लोगों को अब वैक्सीनेशन सटीक उपाय लग रहा है। जिसके चलते लोग बडी संख्या में वैक्सीनेशन के लिए जहां ऑनलाइन आवेदन कर रहे हैं, वहीं वैक्सीनेशन के लिए अस्पतालों में लोगों को लंबा इंतजार ना करना पडे इसके लिए वो अब एकत्र होकर अस्पताल पहुंच रहे हैं।

फिर से लौटा Lockdown का दौर! घर में दुबके लोग और थम गई दिल्ली की सड़कें...

दक्षिण-पश्चिमी दिल्ली के एक निजी अस्पताल में ऐसा ही वाक्या शुक्रवार को देखने को मिला। जहां एक गली के करीब 20 लोग इकट्ठे होकर वैक्सीनेशन करवाने पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि उन सभी का ऑनलाइन डिटेल गली के ही एक युवा ने दो दिन पहले भर दिया था। ताकि समय की बर्बादी के साथ ही वैक्सीनेशन की बर्बादी से भी बचा जा सके। 

दिल्ली में सोमवार सुबह 5 बजे तक वीकेंड कर्फ्यू, बेवजह घर से बाहर निकले तो जाना पड़ेगा जेल

बिना आवेदन कई लोगों को लौटाया
पश्चिमी दिल्ली के निजी अस्पतालों को एक दिन में 100 व्यक्तियों को वैक्सीनेशन करने का आदेश दिया गया है। लेकिन कोरोना के बिगडते हालात को देखते हुए लोगों की भीड अब अस्पतालों में बढने लगी है। वहीं कोटे से अधिक वैक्सीनेशन ना लगवाए जाने की वजह से लोगों को मायूस घर लौटना पड रहा है।

वीकेंड कर्फ्यू में 15-30 मिनट के अंतराल पर चलेगी दिल्ली मेट्रो, ऐसे करनी होगी यात्रा

डीडीयू में 200 बैड हुए कोरोना 
हरीनगर स्थित दिल्ली सरकार के दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल (डीडीयू) में 200 बैड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व कर दिए गए हैं। उनके लिए बकायदा अलग ब्लॉक बनाया गया है ताकि सामान्य मरीजों को किसी प्रकार की कोई दिक्कत का सामना ना करना पडे। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि अभी अस्पताल में स्थितियां सामान्य हैं और कुछ कोरोना बैड भी खाली हैं। सिर्फ उन्हीं मरीजों को एडमिट किया जा रहा है जिनकी स्थिति गंभीर है बाकी को होम आइसोलेशन की सलाह दी जा रही है।

दिल्ली में कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, 24 घंटे में 19 हजार से ज्यादा केस, 141 की मौत

चौधरी ब्रहमप्रकाश अस्पताल में 100 बैड हुए रिजर्व
दिल्ली सरकार के चौधरी ब्रहमप्रकाश आयुर्वेद चरक संस्थान में 100 बैड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व किए गए हैं। इसके साथ ही सामान्य मरीजों के लिए बिल्कुल अलग ब्लॉक बना दिया गया है जहां वो सामान्य रोगों का इलाज करवा सकते हैं। बता दें कि पूरी दिल्ली में एकमात्र ब्रहमप्रकाश ही ऐसा अस्पताल था जहां एक भी कोविड मरीज की अभी तक मौत नहीं हुई है। यहां आयुष मंत्रालय की गाइडलाइंस का पालन करते हुए आयुर्वेदिक पद्धति से कोरोना के मरीजों का इलाज किया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.