Friday, Oct 07, 2022
-->
fearing coronas new strain, the stock market reversed its momentum prshnt

कोरोना के नए स्ट्रेन के डर से शेयर बाजार ने पलटी चाल, बाजार झटके से गिरा नीचे

  • Updated on 12/22/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना (Coronavirus) के नए स्ट्रेन से शेयर बाजार (Share Market) सहम उठा। इससे बाजार की चाल पलट गई। पिछले कुछ हफ्तों से रोजाना ऊंचाई के नए रिकॉर्ड बनाने वाला बाजार एक ही झटके में नीचे आ गिरा। बैंक, मैटल, ऑटो सहित सभी सैक्टर के शेयरों में जबरदस्त बिकवाली (बिक्री) दिखी। देखते-देखते मंदडिय़ों ने बाजार को अपनी गिरफ्त में ले लिया, बिकवाली दबाव का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि एन.एस.ई. के किसी भी सैक्टर का सूचकांक हरे निशान में बंद नहीं हो सका।

आज PM मोदी करेंगे AMU को संबोधित, आजादी के बाद ऐसा दूसरा मौका

वायरस के नए स्ट्रेन के सामने आने से डर का माहौल
ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के सामने आने से डर का माहौल है। पिछले कुछ हफ्तों में इस नए स्ट्रेन से ब्रिटेन में कोराना के संक्रमण में तेज उछाल देखने को मिला है। वहां की सरकार ने क्रिसमस के मौके पर होने वाले कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है। 

रविवार से सख्त पाबंदियों के साथ लॉकडाऊन लागू किया गया है। गैर-जरूरी वस्तुओं की दुकानें और प्रतिष्ठान भी बंद कर दिए गए हैं। 

Kashmir Election Result: DDC इलेक्शन के लिए वोटों की गिनती आज, सुबह 9 बजे शुरू होगी मतगणना

सैंसेक्स और निफ्टी हुए क्रैश
शेयर बाजार को डर है कि अगर यह वायरस काबू में नहीं आया तो आॢथक रिकवरी पर ब्रेक लग सकता है। इसी डर के चलते सोमवार को सैंसेक्स और निफ्टी क्रैश कर गए। सैंसेक्स 3 प्रतिशत और निफ्टी 3.14 प्रतिशत गिर गया। निफ्टी के गिरने वाले शेयरों में एल. एंड टी. सबसे आगे रहा। इसमें 2.38 प्रतिशत गिरावट आई। 

सिप्ला, रिलायंस इंडस्ट्रीज, सन फार्मा, इंफोसिस, जे.सी.ए.एल. टैक, एच.डी.एफ.सी. बैंक और बजाज फिनसर्व के शेयरों में भी बड़ी गिरावट आई। गेल 2 प्रतिशत से ज्यादा गिर गया। टाटा मोटर्स, एम. एंड एम., डिवीज लैब, आई.सी.आई.सी.आई. बैंक और ओ.एन.जी.सी. अन्य गिरने वाले शेयर रहे।

किसान एकता मोर्चा का पेज सोशल मीडिया पर बंद, निशाने पर आया फेसबुक

गिरावट से निवेशक डरे
इस गिरावट से निवेशक डर गए है। इससे पहले बाजार के प्रमुख सूचकांक लगातार चढ़ रहे थे। सैंसेक्स में निचले स्तर से सैंसेक्स 82 प्रतिशत से ज्यादा चढ़ चुका है। 2020 में इसमें 13 प्रतिशत से तेजी आई है। निवेशक जानना चाहते हैं कि बाजार में आई गिरावट क्या आगे भी जारी रहेगी? इस बारे में बाजार के स्वतंत्र विश्लेषक अंबरीश बालिगा ने कहा, ‘‘यह कहना मुश्किल है कि बाजार की तेजी पर ब्रेक लग गया है यह करैक्शन की शुरूआत है।

पक्के  तौर पर वैल्यूएशन बहुत बढ़ गई थी।’’कुछ जानकारों का मानना है कि बाजार का कुल सैंटीमैंट अब भी मजबूत दिख रहा है। हालांकि निवेशक कुछ  मुनाफावसूली कर सकते हैं। के.आर. चोकसी इनवैस्टमैंट के ग्रुप मैनेजिंग डायरैक्टर देवेन चोकसी ने कहा, ‘‘मेरा मानना था कि मौजूदा स्तरों पर कुछ मुनाफावसूली देखने को मिलेगी। हालांकि बाजार की रोजाना चाल को देखकर बहुत परेशान नहीं होना चाहिए। हम दिसम्बर के अंत की तरफ बढ़ रहे है, इसलिए बाजार में कुछ बिकवाली दिख सकती है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.