Saturday, Jan 22, 2022
-->
fears of spread of this disease among corona, who said  40% mortality rate prshnt

कोरोना के बीच इस बिमारी के फैलने की आशंका, WHO ने कहा- 40% है मृत्यु दर

  • Updated on 9/30/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर के बीच गुजरात के कुछ इलाकों में जानवरों में कांगो बुखार फैलने की खबर सामने आई है। जिससे लोगों के दिल में दहशत पैदा कर दिया है। इसके बाद महाराष्ट्र में भी पालघर इलाके में अलर्ट जारी की है। कांगो बुखार का पूरा नाम राइनियन कांगो हेमोरेजिक फीवर है, जो इंसानों के लिए बेहद घातक है, यह इन जानवरों से इंसानों में फैलता है।

एमनेस्टी का बयान दुर्भाग्यपूर्ण, अवैध गतिविधियों के कारण UPA ने भी किया था बैनः गृह मंत्रालय

गुजरात सीमा से महाराष्ट्र में आने वाले पशुओं पर लगा रोक
कांगो बुखार को लेकर जारी अलर्ट के बाद जिलाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से सभी मीट विक्रेताओं को जानवरों में कांगो बुखार को लेकर सावधान होने की नसीहत दे दी है, साथ ही पालघर के कलेक्टर डॉक्टर मानेक गुरसाले ने गुजरात सीमा से महाराष्ट्र में आने वाले पशुओं पर रोक लगा दी है।

UP सरकार पर फायर हुए केजरीवाल बोले- हाथरस पीड़िता का पूरे सिस्टम ने बलात्कार किया, अखिलेश भी बरसे

अनिवार्य रूप से ग्लब्स और मास्क का इस्तेमाल करने की सलाह
साथ ही सभी मीट विक्रेताओं को हाइजीन और साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने के लिए कहा गया है और मीट बिक्री के समय हाथ में ग्लब्स और मास्क पहनने की सलाह दी है और कहा है कि अनिवार्य रूप से ग्लब्स और मास्क का इस्तेमाल करें गुजरात से महाराष्ट्र है जानवरों की भी जांच करने का आदेश जारी किया गया है।

हाथरस गैगरेप: पीड़िता के परिवार का पुलिस पर आरोप, घर नहीं लाने दिया बेटी का शव

इस बीमारी में मृत्यु दर 10 से 40 फीसदी
कांगो बुखार को बेहद खतरनाक माना जा रहा है और डॉक्टर और हसबेंडरी विभाग के डिप्टी कमिश्नर डॉ पीडी कांबले ने इसे लेकर कहा है कि अगर समय रहते इसका पता नहीं लगा और इलाज की व्यवस्था नहीं हुई तो करीब एक तिहाई रोगियों की मौत इससे हो सकती है। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक इस बीमारी में मृत्यु दर 10 से 40 फीसदी तक होती है और अब तक इसकी कोई वैक्सीन भी मौजूद नहीं है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें

comments

.
.
.
.
.