Thursday, Jan 23, 2020
fee-hike-in-aiims-treatment-charges-can-also-be-increased

AIIMS में भी बढ़ सकती है छात्रों की फीस, चिकित्सा उपचार भी होगा महंगा

  • Updated on 11/23/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में चिकित्सा में उपचार (Treatment) और अध्ययन (Education) महंगा होने की संभावना है। संस्थान ने अपने नवीनतम कार्यालय ज्ञापन में केंद्रों और विभागों के सभी प्रमुखों से अनुरोध किया है कि सभी शुल्क और उपयोगकर्ता शुल्कों की समीक्षा की जाए।

एम्स ने अपने सभी छह सेंट्रल इंस्टीट्यूट बॉडी (सीआईबी) ने सभी संबंधितों से विश्लेषण, संकलन और अनुमोदन के लिए रेट चार्ट एफ एंड सीएओ (मेन) को 25 नवंबर, 2019 तक दर-चार्ट भेजने का अनुरोध किया है। ज्ञापन में एम्स के वित्तीय सलाहकार नरेंद्र भाटिया ने कहा कि उपयोगकर्ता शुल्क की दरों को तय करते समय विभागों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उपयोगकर्ता शुल्क पूंजी निवेश पर उचित वापसी के साथ सेवाएं प्रदान करने की वर्तमान लागत की वसूली करें। 

AIIMS: मरीजों के उपचार में आ सकती हैं दिक्कतें, शीतकालीन अवकाश पर रहेंगे डॉक्टर

हर तीन साल में शुल्क की समीक्षा
उन्होंने यह भी सलाह दी कि उपयोगकर्ता शुल्क की दर को उचित मूल्य सूचकांकों के साथ जोड़ा जाना चाहिए और कम से कम हर तीन साल में समीक्षा की जानी चाहिए। उपयोगकर्ता शुल्कों के पुनरीक्षण में आसानी के लिए उपयोगकर्ता शुल्क की दर नियत या कार्यकारी आदेशों के माध्यम से जहां भी संभव हो, तय की जाएगी। 

IIT के साथ मिलकर AIIMS ने बनाए विशेष जूते और छड़ी, बुजु्र्गों को मिलेगी सहायता

प्रस्ताव का होगा बारीकी से अध्ययन
संबंधित मामले पर एम्स आरडीए के महासचिव डॉ. राजीव रंजन ने कहा कि ज्ञापन महज एक प्रस्ताव है। हम उसका बारीकी से अध्ययन कर रहे हैं। उन्होंने यह भी मांग की है कि छात्र संघ और आरडीए को भी संबंधित समीति में रखा जाना चाहिए।
ताकि, वह अपनी बात भी रख सकें।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.