Wednesday, Dec 07, 2022
-->
female doctor coronavirus positive at ndmc headquarters dispensary sohsnt

NDMC मुख्यालय की डिस्पेंसरी में पहुंचा कोरोना वायरस, महिला डॉक्टर में संक्रमण की पुष्टि

  • Updated on 5/22/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) मुख्यालय पालिका केंद्र डिस्पेंसरी में एक महिला डाॅक्टर कोरोना पाॅजिटिव पाई गईं है। जिसके बाद उन्हें होम क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है।

विपक्ष की बैठक में सोनिया गांधी बोलीं- क्रूर मजाक है 20 लाख करोड़ का पैकेज

3 डाॅक्टरों सहित कुल 15 लोग संदिग्ध
वहीं डिस्पेंसरी में काम करने वाले 3 डाॅक्टरों सहित कुल 15 लोगों को संदिग्ध मानते हुए उनपर नजर रखी जा रही है। वहीं एनडीएमसी अब कंम्पयूटर के डाटा को खंगालकर यह जानकारी लेने में जुटा है कि पिछले कुछ दिनों से कौन-कौन रोगी महिला डाॅक्टर के संपर्क में आए हैं।

Lockdown4: दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में 5 महीने बाद खुलीं दुकानें, गुलजार हुआ मार्केट

महिला डाॅक्टर को थी पिछले कुछ दिनों से फ्लू की शिकायत
बता दें कि एनडीएमसी मुख्यालय में बनी डिस्पेंसरी में एलौपेथी के 2, आयुर्वेदिक 1 व होम्योपेथी के 1 डाॅक्टर सहित नर्स व पैरा मेडिकल के कर्मचारियों सहित 15 लोग कार्यरत हैं। इनमें से एलौपेथी की महिला डाॅक्टर को पिछले कुछ दिनों से फ्लू की शिकायत थी। जब उन्होंने जांच करवाई तो शुक्रवार दोपहर मिली उनकी रिपोर्ट में वो कोरोना पाॅजिटिव पाई गईं।

दिल्ली: स्वास्थ्य मंत्री ने बताया- कोरोना से मौत के आंकड़े सब सामने है, कोई छिपा नहीं रहा

एनडीएमसी उच्चाधिकारियों की बढ़ी परेशानी
मालूम हो कि इस डिस्पेंसरी से सिर्फ एनडीएमसी के अधिकारी और कर्मचारी ही इलाज नहीं करवाते बल्कि एनडीएमसी मुख्यालय के साथ बनी गृहमंत्रालय की बिल्डिंग में कार्यरत कर्मचारी सहित संसद मार्ग व जंतर-मंतर रोड पर बने बैंक व कार्यालयों के कर्मचारी भी जांच व दवा के लिए आते हैं। जिससे एनडीएमसी उच्चाधिकारियों की परेशानी बढ गई है। अब एनडीएमसी कंम्यूटर से डाटा इकट्ठा कर उन लोगों के नाम ढूंढ रही है जिन्होंने संक्रमित महिला डाॅक्टर से पिछले कुछ दिनों में इलाज करवाया था। ताकि उन पर नजर रखी जा सके और समय रहते उचित सलाह प्रदान की जाए।

एम्स में मेस कर्मचारी की कोरोना से मौत के बाद हंगामा, उठी सुपरिटेंडेंट के इस्तीफे की मांग

एनडीएमसी में कोरोना का तीसरा मामला
डाॅक्टर के कोरोना पाॅजिटिव पाए जाने का यह पहला मामला नहीं है बल्कि इससे पहले भी दो बार एनडीएमसी कर्मचारी के कोरोना पाॅजिटिव होने की खबर आ चुकी है। सबसे पहले चरक पालिका अस्पताल के एक सफाईकर्मी कोरोना पाॅजिटिव पाया गया था, जिसके बाद चरका पालिका के अधिकतर स्टाॅफ को क्वॉरेंटीन किया गया था। जबकि दूसरा मामला एक चीफ इंजीनियर के कोरोना पाॅजिटिव होने का प्रकाश में आया था।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.