Wednesday, Jun 23, 2021
-->
finance minister nirmala sitharaman can give a blueprint for 20 lakh crore package today prshnt

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आर्थिक पैकेज को लेकर आज शाम 4 बजे करेंगी प्रेस कॉन्फ्रेंस

  • Updated on 5/13/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने मंगलवार को पांचवी बार देश को संबोधित किया। जिसमें उन्होंने 20 लाख करोड़ रुपए के वित्तीय पैकेज की घोषणा की है जो देश के सकल घरेलू उत्पाद का 10% है। इसे लेकर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) बुधवार यानी आज शाम 4 बजे मीडिया को संबोधित करेंगी और इस राहत पैकेज में किस वर्ग को कितनी राहत दी जाएगी उस पर भी चर्चा कर सकती हैं। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री द्वारा घोषित किए हुए पैकेज का सबसे ज्यादा राहत मजदूर वर्ग और उद्योग जगत को मिल सकता है।

राहुल गांधी ने की मांग- मोदी सरकार देश के प्रवासी मजदूरों की लें सुध, जल्द भेजे खाते में राशि

समय की जरूरत है ये पैकेज
उद्योग क्षेत्र में मंगलवार को पीएम द्वारा जारी 20 लाख करोड़ रुपए के प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा को लेकर कहा कि यह समय की जरूरत थी। वहीं उद्योग मंडलों का कहना है कि इस पैकेज का कोरोना वायरस महामारी के साथ ही लॉक डाउन में लगे पाबंदियों से अर्थव्यवस्था को नुकसान हुआ है उसे मदद मिलेगा और देश में आर्थिक स्थिति को गति मिलेगी।

PM मोदी के ऐलान पर अनुराग कश्यप ने उठाए सवाल, अनुपम-परेश रावल ने जताया भरोसा

अर्थव्यवस्था के लिए चुनौती में राहत है ये पैकेज
पीएम द्वारा जारी राहत पैकेज को लेकर उद्योग मंडल सीआईआई के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस पैकेज में  श्रम, जमीन, नगदी और कानून को लेकर इन्हें सरल बनाने के की बात की जोकि सराहनीय है। इस समय देश में अर्थव्यवस्था के लिए एक प्रमुख चुनौती बनी हुई है इन चारों क्षेत्रों में सुधार के साथ ही देश में आर्थिक संकट की घड़ी में वृद्धि को गति मिलने की संभावना है।

पीएम मोदी के राहत पैकेज की घोषणा की गृह मंत्री ने किया स्वागत तो कांग्रेस ने उठाया सवाल

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से है उम्मीद

इसके अलावा फिक्की के अध्यक्ष संगीता रेड्डी का कहना है कि अर्थव्यवस्था के पांच आधार, जनसंख्या, बुनियादी ढांचा, व्यवस्था और मांग को मजबूत करने से भारत में फिर से अर्थव्यवस्था में मजबूती आएगी ।

उन्होंने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि देश के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जब पैकेज के रूप रेखा की घोषणा करेंगी, तो उसमें जरूरतमंदों, गरीबों, एमएस और उद्योग तथा आम लोगों की जरूरतों का ध्यान रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत को मजबूत बनाने और आत्मनिर्भर बनाने के लिए श्रम जमीन और नगदी की जरूरत है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.