Friday, Apr 23, 2021
-->
finance-ministry-allowed-private-banks-to-participate-in-government-related-activities-rkdsnt

वित्त मंत्रालय ने प्राइवेट बैंकों को दी सरकार से जुड़े कामकाज में भागीदारी की इजाजत 

  • Updated on 2/24/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। वित्त मंत्रालय ने बुधवार को निजी क्षेत्र के सभी बैंकों को कर संग्रह, पेंशन भुगतान और लघु बचत योजनाओं जैसे सरकार से जुड़े कामकाज में शामिल होने की अनुमति दे दी। फिलहाल निजी क्षेत्र के कुछ बड़े बैंकों को ही सरकार से जुड़े कामकाज करने की अनुमति है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार इस कदम से ग्राहकों के लिये सुविधा बढ़ेगी, प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा मिलेगा और ग्राहकों को मिलने वाली सेवाओं के मानकों में दक्षता बढ़ेगी। 

मोदी के नाम स्टेडियम : राहुल गांधी के निशाने पर मोदी-शाह, बोले- सच खुद ही बोलता है

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘निजी बैंकों को सरकार से जुड़े कामकाज और योजनाओं को क्रियान्वित करने पर लगी रोक हटा ली गयी है। अब सभी बैंक इसमें शामिल हो सकते हैं। निजी बैंक अब भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास, सरकार के सामाजिक क्षेत्र में उठाये गये कदमों और ग्राहकों की सुविधा बेहतर बनाने में समान रूप से भागीदार हो सकते हैं।’’ 

गुजरात के सीएम रूपाणी ने AAP को भाजपा की बजाय कांग्रेस के लिए चुनौती माना

बयान के अनुसार अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी को अपनाने और उसके उपयोग तथा नवप्रवर्तन के मामले में अगुवा रहने वाले निजी क्षेत्र के बैंक अब भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास और सरकार के सामाजिक क्षेत्र में उठाये गये कदमों को लागू करने में समान रूप से भागीदार होंगे। इसमें कहा गया है, ‘‘पाबंदी हटाये जाने के साथ भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के लिये सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के अलावा निजी क्षेत्र के बैंकों को सरकारी कामकाज सौंपने को लेकर कोई प्रतिबंध नहीं है। 

किसान आंदोलन : टिकैत ने तोमर की बजाय राजनाथ सिंह पर जताया भरोसा

चुनाव से पहले लोगों को लगें कोरोना टीके, ममता बनर्जी ने पीएम मोदी से लगाई गुहार

सरकार ने इस निर्णय के बारे में आरबीआई को सूचना दे दी है।’’ सरकार पहले ही 2021-22 के बजट में आईडीबीआई के अलावा सार्वजनिक क्षेत्र के दो बैंकों के निजीकरण की घोषणा कर चुकी है। सरकार ने पिछले सार्वजनिक क्षेत्र के 10 बैंकों का एकीकरण किया। इससे सरकारी बैंकों की संख्या घटकर 12 पर आ गयी जो मार्च 2017 में 27 थी। 

मोदी के नाम स्टेडियम को लेकर कांग्रेस बोली- गुजरात की अस्मिता को ललकारा है भाजपा ने !

 

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

 

comments

.
.
.
.
.