Wednesday, Mar 20, 2019

उपनेता प्रतिपक्ष के आवास में लगी आग, सामान जलकर राख

  • Updated on 3/11/2019

देहरादून/ब्यूरो। रेसकोर्स विधायक हॉस्टल में स्थित उपनेता प्रतिपक्ष व रानीखेत के विधायक करण माहरा के आवास में आग लगने उनके बेडरूम में रखा सामान जलकर राख हो गया। यह आवास 8 मार्च से बंद पड़ा था। घटना का खुलासा सोमवार को उस वक्त हुआ जब करण माहरा दोपहर के वक्त आवास में लौटे।

आग लगने की जानकारी किसी के पास नहीं है। वीवीआईपी क्षेत्र विधायक हॉस्टल की घटना से वहां की सुरक्षा व्यवस्था की पोल खुल गई है।

विधायक हॉस्टल के सी ब्लॉक में करण माहरा को आवास नम्बर-70 आवंटित है। माहरा सोमवार लगभग तीन बजे आवास में पहुंचे। दरवाजा खोलने पर अंदर का दृश्य देखने पर हैरान रह गए। पूरा बेडरूम काला पड़ा था। उसमें रखा लाखों का सारा सामान राख हो गया था। स्टोर रूम,वॉश रूम की भी यही स्थिति थी। 

उनकी सूचना पर केदारनाथ के विधायक मनोज रावत भी मौके पर पहुंचे। हॉस्टल के व्यवस्थाधिकारी को मौके पर बुलाया गया। इस घटना ने विधायक हॉस्टल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। करण माहरा के मुताबिक 8 मार्च की शाम को वह दिल्ली गए थे। सोमवार की दोपहर लौटने पर उन्हें घटना पता चली।

किशोरी से दुष्कर्म के नाबालिग आरोपी को परिजनों ने पुलिस को सौंपा

नौ मार्च को लगाया था एसी
बताया जा रहा है कि राज्य सम्पत्ति विभाग ने नौ मार्च को करण माहरा की अनुपस्थिति में उनके बेडरूम में नया एसी लगाया था। माना जा रहा है कि उनके आवास में नौ मार्च की रात्रि से 10 मार्च के बीच आग लगी है।   

किसने बंद किया फायर अलार्म ?
विधायक हॉस्टल में फायर अलार्म लगे हुए हैं। हैरानी की बात है कि इतनी बड़ी घटना के बाद भी फायर अलार्म नहीं बजा। न ही हॉस्टल में तैनात सुरक्षाकर्मियों को धुआं दिखा। माहरा के आवास का बिजली का मुख्य स्विच ऑफ होने से फायर अलार्म को पावर स्पलाई नहीं मिली, जिससे व निष्क्रिय हो गया। इस घटना के पीछे किसी साजिश से इंकार नहीं किया जा सकता।

पांच माह पहले विधायक मनोज रावत के आवास में लगी थी आग
पांच माह पहले इसी विधायक हॉस्टल में विधायक मनोज रावत के आवास में आग लगी थी। उस वक्त इसका कारण शार्ट सर्किट बताया गया था। विधायकों की शिकायत के बावजूद हॉस्टल की सुरक्षा व्यवस्था पर ध्यान नहीं दिया गया।

जांच कमेटी गठित
शासन ने इस मामले में चार सदस्यीय जांच समिति गठित कर मंगलवार की शाम तक जांच रिपोर्ट तलब की है। राज्य सम्पत्ति विभाग के अपर सचिव वंशीधर तिवारी ने बताया कि जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.