Saturday, Nov 17, 2018

SC के आदेश का उल्लंघन करने पर दर्ज हुई 562 FIR , दिल्ली पुलिस की रेड में जब्त हुए हजार किलो पटाखे

  • Updated on 11/8/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिवाली पर होने वाले प्रदूषण को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने राजधानी दिल्ली में अवैध रुप से पटाखे बेचने पर प्रतिबंध लगा दिया था और इस आदेश का उल्लंघन करने पर पुलिस को उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया था।

सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बावजूद लोग तय समय सीमा से ज्यादा देर तक पटाखे फोड़ते दिखे। वहीं इस मामले को गंभीरता से लेते हुए दिवाली की रात राजधानी के विभिन्न इलाकों से 1705 किलो पटाखे जब्त किए गए हैं वहीं सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश का उल्लंधन करने के मामले में 562 एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं।

MP: कांग्रेस ने जारी की प्रत्याशियों की चौथी लिस्ट, शिवराज के साले संजय सिंह को दिया टिकट

दिल्ली पुलिस ने रोहिणी इलाके से 800 किलो पटाखे जब्त किए और इस मामले में  4 लोगों को गिरफ्तार कर केस भी दर्ज किया। वहीं नॉर्थ वेस्ट इलाके से दिवाली की रात पुलिस ने 57 केस दर्ज कर 140 किलो पटाखे जब्त किए गए। जबकि दिल्ली पुलिस ने द्वारका से 200 किलो पटाखे जब्त किए और इस मामले में कुल 42 केस रजिस्टर किए गए हैं। 

वहीं, साउथ ईस्ट दिल्ली के इलाके से 278 किलो पटाखे जब्त किए गए जबकि इस मामले में 23 केस दर्ज किए गए हैं और कुल 17 गिरफ्तारियां हुई है। इसके अलावा नॉर्थ दिल्ली में 72 किलो पटाखे जब्त किए गए और 14 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

दिल्ली: DB गुप्ता रोड की झुग्गियों में लगी भीषण आग, 2 बच्चों की मौत

गौरतलब है कि दिल्ली में खतरनाक स्तर पर प्रदूषण को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने पिछले दिनों पटाखे फोड़ने के लिए समय सीमा रात आठ से 10 बजे की समय-सीमा तय की थी। शीर्ष अदालत ने सिर्फ ‘हरित पटाखों’ के निर्माण और बिक्री की अनुमति दी थी लेकिन इसका असर बेहद ही कम देखने को मिला।

दिवाली पर सुप्रीम कोर्ट की यह सख्ती सिर्फ नाम के लिए ही नजर आई। तय समय सीमा के बावजूद भी कई इलाकों में लोग आतिशबाजी करते दिखे और ये सिलसिला देर रात तक चलता रहा, जिसके कारण आज सुबह दिल्ली की आबोहवा बद से बदतर नजर आई। सुबह से आसमान पर धुंध की चादर फैली हुई थी। सांस लेने में लोगों को तकलीफ का सामना कर पड़ा।

दिल्ली के लोधी रोड इलाके में आज सुबह का पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर 500- 500 माइक्रो क्यूबिक रहा। वहीं, आनंद विहार का वायु गुणवत्ता सूचकाकं 999, अमेरिकन एमबेसी के पास के इलाके का 459 और मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम का वायु गुणवत्ता सूचकाकं 999 रहा। जो बेहद ही खतरनाक वायु गुणवत्ता सूचकाकं (एक्यूआई) है।


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.