Tuesday, Jan 28, 2020
first case of lung cancer in delhi due to air pollution

दिल्ली की जहरीली हवा से कैंसर होने का पहला मामला आया सामने, जानिए कितने खतरे में हैं आप

  • Updated on 7/30/2019

नई दिल्ली/प्रियंका अग्रवाल। दिवाली से पहले ही दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में प्रदूषित हवा का स्तर दिन पे दिन बढ़ रहा है। बढ़ते प्रदूषण (Pollution) के कारण दिल्ली वासियों को सांस लेने में काफी दिक्कतें हो रही है। दिल्ली (Delhi) के कई इलाकों में हवा की क्वॉलिटी इतनी ज्यादा गिर गई है कि इसे जहरीली हवा कहे तो गलत नहीं होगा। यह जहरीली हवा सिर्फ फेफड़ों को ही बीमार नहीं कर रही बल्कि ये कई बड़ी-बड़ी बीमारियों को न्यौता दे रही हैं। लेकिन पहली बार एक ऐसा केस सामने आया है जो आपको चिंताजनक श्रेणी में डाल देगा। बता दें दिल्ली के एक अस्पताल ने इस बात की पुष्टि की है कि एक महिला को दिल्ला की प्रदूषित वायु से कैंसर हुआ है।

उन्नाव रेप पीड़िता : प्रियंका की PM मोदी से अपील, आरोपी विधायक को बचाना बंद करें

जहरीली हवा से हुआ कैंसर

दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल (Sir Ganga Ram Hospital) में हाल ही में एक युवती जांच के लिए गईं। वहीं जब उसकी रिपोर्ट्स सामने आई तो उसके पैरो तले जमीन खिसक गई। युवती की रिपोर्ट के मुताबिक उन्हें कैंसर जैसी गंभीर बीमारी है। इसकी पुष्टि खुद गंगाराम के डॉ. अरविंद कुमार (Dr. Arvind Kumar) ने की। डॉ. अरविंद सेंटर फॉर चेस्ट के चेयरपर्सन हैं। उनका कहना है कि उनकी ओपीडी में एक 28 साल की युवती जांच के लिए आई थी। युवती ने उनको बताया कि वो जन्म से लेकर स्कूल जाने तक गाजीपुर इलाके में रहती थी। इसके बाद वो और उनका परिवार पश्चिमी दिल्ली में आकर रहने लगा।

Image result for जहरीली हवा से हुआ कैंसरCCD के मालिक हुए लापता, बीजेपी सांसद ने गृहमंत्री से मांगी मदद

डॉ. की जांच के मुताबिक युवती के परिवार में से किसी भी सदस्य का धूम्रपान करने का कोई रिकॉर्ड नहीं मिला। जिसके बाद डॉ. ने इस मामले को सीधा वायु प्रदूषण से जोड़ा है। उनका कहना है दिल्ली की वायु इतनी प्रदूषित है कि इसमें रहने वाले किसी भी व्यक्ति को कैंसर हो सकता है। वहीं युवती को भी इसी वायु प्रदूषण से ये बीमारी हुई है।

Image result for delhi me pradushit hawa

डॉ. कुमार का कहना है कि विश्वभर में सभी मानवों की संरचना एक जैसी है। हमारी बॉडी में प्रदूषण साइलेंट का काम करता है। जिसका असर एक या दो दिन नहीं बल्कि 20-30 साल बाद दिखाई देता है। डब्ल्यूएचओ भी इसे दुनिया भर में जन स्वास्थ्य आपात घोषित कर चुका है। साथ ही डॉ. ने युवती की परेशानी समझते हुए सरकार से अपील की है कि अगर सरकार चाहे तो इस युवती के मामले पर किसी भी संस्था से अध्ययन करा सकती है। 

Live: रविशंकर प्रसाद ने कहा- राजनीतिक चश्मे से न देखा जाए तीन तलाक विधेयक

प्रदूषित शहर में दिल्ली को मिला पहला स्थान

हाल ही में एक रिपोर्ट के अनुसार वैश्विक वायु प्रदूषण 2018 की रिपोर्ट में नई दिल्ली को 62 प्रदूषित शहरों में पहले स्थान पर रखा गया। रिपोर्ट में वायु गुणवत्ता को पीएम 2.5 के संदर्भ में मापा गया है। दिल्ली में 41 फीसदी पीएम 2.5 के प्रदूषित कण वाहनों से, 21.5 फीसदी धूल और 18 फीसदी प्रदूषण कण विभिन्न फैक्टरियों की वजह से हैं। बता दें कि पीएम 2.5 बारिक कण होते हैं, पीएम 2.5 का स्तर बढ़ने पर ही धुंध बढ़ती है।

फाइल फोटो

पूर्व मुख्यमंत्री एसएम कृष्णा के दामाद और कैफे कॉफी डे के मालिक हुए लापता

भारत में ना शुद्ध हवा, ना साफ पानी- ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले महीने ब्रिटेन के एक टीवी चैनल आईटीवी को दिए इंटरव्यू में कहा था कि भारत में ना साफ हवा है और ना ही पीने लायक साफ पानी। यहां तक कि ट्रंप ने कहा था कि भारत को तो प्रदूषण तक की समझ नहीं है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा भारत की आलोचना करना अपने आप में चिंताजनक है। ट्रंप के बयान के बाद हमारे देश की छवि पूरी दुनिया में खराब हुई है।

Image result for donald trump and pm modi

इस साल 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस पर पूरी दुनिया में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए गए। केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर द्वारा अपने मंत्रालय के परिसर वृक्षारोपण किया गया। इस मौसम में लगाया गया पौधा क्या बच पाएगा, इस बात पर विचार किए बिना ही विभिन्न सरकारी विभागों द्वारा पर्यावरण दिवस के अवसर पर वृक्षारोपण किया गया। इस प्रकार की औपचारिकताओं एवं फोटो सेशन के द्वारा ही विभिन्न सरकारी विभागों एवं अधिकारियों द्वारा अपनी जिम्मेदारी पूरी कर ली जाती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.