Saturday, Apr 17, 2021
-->
first consignment of corona vaccines arrived in delhi security increased at igi airport pragnt

कोरोना टीकों की पहली खेप पहुंची दिल्ली, IGI Airport पर बढ़ाई गई सुरक्षा

  • Updated on 1/12/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बीच जल्द ही टीकाकरण अभियान शुरू होने जा रहा है। इसके लिए आज से वैक्सीन के वितरण का काम भी शुरू कर दिया गया है। ऐसे में पुणे से कोविड-19 टीकों की पहली खेप के दिल्ली (Delhi) पहुंचने के मद्देनजर इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे (IGI Airport) पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है, क्योंकि यहीं से टीके शहर के विभिन्न हिस्सों में पहुंचाए जाएंगे।

जानें भारत बायोटेक और सीरम से कितने डोज की हो रही खरीद, आज निकली पहली खेप

16 जनवरी को होगी टीकाकरण की शुरुआत
देश में कोरोना वायरस के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का आरंभ करते हुए 16 जनवरी को टीकाकरण मुहिम की शुरुआत से चार दिन पहले 'स्पाइजेट' का विमान टीकों के साथ सुबह करीब 10 बजे दिल्ली हवाईअड्डे पहुंचा। वह सुबह करीब आठ बजे पुणे हवाईअड्डे से रवाना हुआ था। दिल्ली के पुलिस उपायुक्त (आईजीआई हवाईअड्डा) राजीव रंजन ने बताया कि पीसीआर वैन के साथ स्थानीय पुलिस कर्मी टीकों को निर्धारित स्थानों पर पहुंचाने वाले वाहनों की सुरक्षा में तैनात रहेंगे।

Bird Flu को लेकर विशेषज्ञों का खुलासा- कोरोना से ज्यादा खतरनाक H5N1

सुरक्षा के कड़ें इंतजाम
उन्होंने बताया कि टीकों को ले जाने के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। संयुक्त पुलिस आयुक्त (यातायात) मनीष अग्रवाल ने कहा, 'अगर टीकों के कार्यक्रम से जुड़ा कोई अन्य कार्यक्रम जारी किया गया और मदद की मांग की गई तो, हम उसे मुहैया कराएंगे।' दिल्ली यातायात पुलिस ने बताया कि हम टीके ले जा रहे वाहनों का सुचारू संचालन सुनिश्चित करेंगे। पुलिस ने बताया कि 'स्टोरेज' स्थलों पर भी पर्याप्त पुलिस तैनात है और पीसीआर वैन वहां गश्त भी लगाती रहेगी।

कोविशील्ड वैक्सीन की पहली खेप हुई रवाना, जानें सीरम इंस्टीट्यूट कितने खुराक के लिए किया है सौदा

दिए ये निर्देश
उन्होंने बताया कि पुलिस नियंत्रण कक्ष को 'कोल्ड स्टोरेज' स्थल, टीकाकरण केन्द्रों से किसी भी तरह का फोन आने पर तुरंत कार्रवाई करने और तत्काल पीसीआर वैन, स्थानीय पुलिस, यातायात पुलिस तथा अन्य एजेंसी को इसकी जानकारी देने का निर्देश दिया गया है। पुलिस उपायुक्त (शाहदरा) अमित शर्मा ने कहा, ''राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल' के 'स्टोरेज' स्थल पर भी हमने कर्मी तैनात किए हैं।'

Bird Flu in Delhi: 100 से अधिक सैंपलों की रिपोर्ट का इंतजार, बाहर से चिकन लाने पर रोक

1 करोड़ से ज्यादा डोज तैयार किए जाएंगे
बताया जा रहा है कि पहली फ्लाइट दिल्ली एयरपोर्ट के लिए रवाना होगी। जिसके बाद देश के अन्य हिस्सों में फ्लाइट को रवाना किया जाएगा। गौरतलब है कि पहले चरण में 1 करोड़ से ज्यादा कोविड वैक्सीन के डोज तैयार किए गए हैं। जिनकों बाद में देश के अन्य स्थानों पर पहुंचाया जाएगा। बता दें वैक्सीन से लदे यह ट्रक व्यापक सुविधा के साथ पुणे के सीरण इंस्टीट्यूट से एयरपोर्ट के लिए रवाना हो रहे हैं। वहां से यह देश के अलग-अलग हिस्सों में रवाना होंगे। 

SC के रुख पर बोले किसान- न समिति चाहिए न ही स्टे, पूरी तरह रद्द हो कानून

300 ट्रकों को किया जा रहा इस्तेमाल
अभी जीपीएस की सुविधा के साथ 300 से ज्यादा ट्रकों को लगाया गया था। मगर जरुरत पढ़ने पर 500 कंटेनर को और बुलाया जाएगा। भारत सरकार ने लक्ष्य रखा है कि अगले कुछ महीनों में 30 करोड़ से ज्यादा लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी। सरकार अभी कोरोना की वैक्सीन को फ्रंटलाइन वॉरयर्स को लगाई जा रही है। सरकार इसके लिए अभी कोई पैसे नहीं ले रही है। यह मुफ्त में लगाई जा रही है।  

कृषि कानूनों के अमल पर SC के फैसले से भड़के किसान, कहा- यह सरकार का काम था, कोर्ट का नहीं

मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों से की बात
गौरतलब हो कि सोमवार को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कोरोना वैक्सीन को लेकर की गई तैयारियों  को लेकर बात की। प्रधानमंत्री ने यहां बताया कि किस तरह से राज्यों को वैक्सीन मुहैया कराई जाएगी। और किसे कैसे इसका इस्तेमाल करना होगा। इसके अलावा पीएम ने बताय है कि नागरिकों को वैक्सीन को लेकर फैल रही अफवाहों से बचना होगा। वह कहते हैं कि देश से जल्द कोविड से बाहर लाना है। और यह वैक्सीन की मद्द से ही हो सकता है। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.