Friday, Feb 26, 2021
-->
first-man-cured-of-hiv-now-has-terminal-cancer-prsgnt

HIV से ठीक होने वाले दुनिया के पहले व्यक्ति को हुआ ल्यूकेमिया कैंसर....

  • Updated on 9/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दुनिया के पहले एचआईवी के मरीज के पूरी तरह से ठीक होने के बाद उन्हें ल्यूकेमिया कैंसर ने जकड़ लिया है। एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के अनुसार, 2008 में दुनिया में एचआईवी से ठीक होने वाले पहले मरीज टिमोथी रे ब्राउन गंभीर रूप से बीमार है और इस बार उन्हें दोबारा कैंसर हुआ है। 

टीमोथी रे ब्राउन को अमेरका में ‘बर्लिन का मरीज़’ के नाम से जाना जाता है जो एड्स और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से उबर पाए लेकिन अब वो अपने पुराने कैंसर से लड़ रहे हैं। टिमोथी रे ब्राउन की पार्टनर ने बताया कि एचआईवी से ठीक होने के बाद उनकी जिंदगी ठीक थी लेकिन तभी पता लगा कि उन्हें दोबारा कैंसर हुआ है। 

इतिहास में पहली बार इंसान के शरीर में अपने-आप ठीक हुआ HIV, जानें कारण

उन्होने बताया कि ब्राउन का ये कैंसर 12 साल पहले इलाज से ठीक हो चुका था लेकिन अब एक बार फिर वो लौट आया है जिसकी वजह से वो बेहद बीमार है। 

ब्राउन की पार्टनर के अनुसार, उन्हें 2006 में ल्यूकेमिया कैंसर हुआ था जो पिछले साल दोबारा लौटा और अब ये उनके शरीर में काफी फ़ैल गया है। ब्राउन स्टेम सेल ट्रांसप्लांट कराने के बाद एचआईवी से पूरी तरह से ठीक हो चुके है।

Nepal में दिखा बेहद दुर्लभ Golden कछुआ, लोगों ने भगवान विष्णु का अवतार बता कर शुरू की पूजा

बताते चले कि हाल ही में साइंस मैगजीन नेचर ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी। इस रिपोर्ट में बताया गया था कि ब्राउन के स्टेम सेल ट्रांसप्लांट करने के बाद उनका एचआईवी हुआ था जो पहला मामला था। इसके लिए डॉक्टरों ने उनकी बॉडी में मौजूद 150 करोड़ कोशिकाओं की जांच की थी। 

टिमोथी ने अपने एक ब्लॉग में अपने एचआईवी के इलाज और उससे जूझते हुए अपनी यात्रा के बारे लिखा है। ब्राउन ने बताया था कि  2012 में उनपर एक लैब में टेस्ट किया गया था जिसमें पाया गया कि उनके शरीर में एचआईवी की मृत कोषिकाएं हैं। इस लैब टेस्ट में बताया गया ये मरी हुई एचआईवी सेल्स दोबारा पैदा नहीं हो सकती और इसके बाद ही उन्हें एचआईवी मुक्त घोषित कर दिया गया था। 

comments

.
.
.
.
.