Monday, Nov 28, 2022
-->
first-phase-of-corona-vaccine-trial-in-patna-aiims-has-been-successful-prshnt

पटना AIIMS में कोरोना वैक्सीन ट्रायल का पहला चरण रहा सफल, नहीं हुआ कोई साइड इफेक्ट्स

  • Updated on 9/9/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर से निजात पाने के लिए कई देश इसके वैक्सीन की खोज में लगे हुए हैं। इसी बीच बिहार से एक खुशखबरी सामने आई है। यहां दानापुर के फुलवारी शरीफ स्थित पटना एम्स में पहले चरण का कोरोना वैक्सीन का ट्रायल पूरा कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि पटना के 44 लोगों के साथ पूरे बिहार के 350 मरीजों पर इस वैक्सीन का ट्रायल किया गया। उसके बाद अब एम्स में दूसरे चरण में 50 लोगों के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

PM मोदी ने रेहड़ी- पटरी वालों के लिए शुरू की 'स्वनिधि योजना’, कही ये बात

दूसरे चरण में 50 लोगों को दिया जाएगा डोज
पहले चरण में 350 लोगों को इस वैक्सीन का डोज दिया गया था। जिसका किसी पर कोई साइड इफेक्ट सामने नहीं आया है। पहले चरण के ट्रायल पूरा होने पर ठीक हुए मरीजों की रिपोर्ट को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को भेज दिया गया है।

वैक्सीन के ट्रायल को लेकर एम्स चिकित्सा अधीक्षक डॉ सी एम सिंह ने बताया कि दूसरे चरण का वैक्सीन का डोज 50 लोगों को दिया जाएगा लोगों के रजिस्ट्रेशन के लिए इन पटना एम्स की ओर से मोबाइल नंबर 94714 08832 जारी किया गया है। इस नंबर पर कोई भी इच्छुक मरीज दूसरे चरण के परीक्षण में भाग ले सकते हैं।

राहुल के निशाने पर मोदी सरकार, कहा- 21 दिन में खत्म करने चले थे कोरोना, खत्म कर दिए करोड़ों रोजगार

12-65 साल के लोगों पर होगा परीक्षण
बता दें कि एम्स में 15 जुलाई से शुरू हुए कोरोना वैक्सीन का मानव परीक्षण के सफलता के बाद अब दूसरे चरण में 12 वर्ष के बच्चों से लेकर 65 वर्ष के  बुजुर्गों पर इसका परीक्षण किया जाएगा। डॉ सी एम सिंह ने बताया कि पहले चरण में 18 से 55 वर्ष के लोगों पर इस दक्षिण का ट्रायल किया गया है जिसमें वैक्सीन का साइड इफेक्ट नहीं पाया गया।

डॉक्टर ने बताया कि वैक्सीन के सकारात्मक नतीजे सामने आने के बाद इसके दूसरे चरण के ट्रायल की अनुमति और सिद्ध महानिदेशक ने दे दी है, उन्होंने कहा कि पटना एम्स में 15 जुलाई को जिस व्यक्ति को कोरोना वायरस की पहली 25 मिलीग्राम दी गई थी उसे 29 जुलाई को दूसरी दोष भी दी गई थी।

सीमा पर नहीं मिली कामयाबी तो बौखलाया चीन NSA अजित डोभाल के खिलाफ चला रहा Propaganda

वैक्सीन के प्रतिरोधक क्षमता का भी हुआ टेस्ट
वैक्सीन के प्रतिरोधक क्षमता का भी टेस्ट 12 और 26 अगस्त को किया गया उसमें एंटीबॉडी का समुचित विकास पाया गया डॉक्टर ने बताया कि प्रथम चरण की दूसरी डोज 14 दिनों पर दी गई थी। लेकिन अब दूसरे चरण में दूसरी डोज 28 वें दिन दी जाएगी।

बता दें कि बिहार में जिस तरह से कोरोनावायरस अपने पैर पसार रहा है, ऐसे में कोरोना वैक्सीन के परीक्षण का सकारात्मक परिणाम आना एक खुशखबरी है। बिहार में अब तक 1,50,694 लोग संक्रमित हो चुके हैं वहीं 765 लोगों की जान जा चुकी है जबकि 1,34,089 लोग ठीक हुए हैं।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें

comments

.
.
.
.
.