Monday, Jun 27, 2022
-->
flood-threat-in-ghaziabad-irrigation-department-issued-alert-advice-to-go-to-safer-places

गाजियाबाद में बाढ़ का खतरा : सिंचाई विभाग ने जारी किया अलर्ट, सुरक्षित स्थलों पर जाने की सलाह

  • Updated on 5/27/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। गर्मी से राहत पाने के लिए मानसून का बेसब्री से इंतजार हो रहा है। अबकी बार सामान्य से ज्यादा वर्षा होने की संभावना है। ऐसे में बाढ़ की तीव्रता अत्यधिक होने की आशंका से इंकार नहीं किया गया है। गाजियाबाद में हिंडन नदी के डूब क्षेत्र की परिधि में आबाद 14 गांवों पर बाढ़ का ज्यादा खतरा है। 

सबसे ज्यादा खतरे में 14 गांव
इसके मद्देनजर सिंचाई विभाग ने अलर्ट जारी किया है। डूब क्षेत्र की भूमि से अवैध निर्माण तत्काल हटाने और नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर पनाह लेने की सलाह दी गई है। बाढ़ की स्थिति में शासन-प्रशासन एवं सिंचाई विभाग प्रभावितों को किसी प्रकार की सुरक्षा प्रदान नहीं कर पाएगा। 

डूब क्षेत्र में अवैध निर्माण पर चिंता
गाजियाबाद जनपद में हिंडन नदी के बाएं किनारे पर नंदग्राम तटवर्ती बंध के समीप गांव सिहानी, घूकना, सद्दीक नगर, नूरनगर, मोरटी, करहैड़ा, मेवला अगरी, असालतपुर, अटौर, भनैडा, नगला फिरोज मोहनपुर व शमशेर हैं। जबकि दाएं किनारे पर हिंडन तटवर्ती बंध के पास अर्थला व कनावनी गांव आते हैं। 

अवैध निर्माण तोड़ने की अपील 
इन गांवों की भूमि हिंडन नदी के डूब क्षेत्र की परिधि में आती है। डूब क्षेत्र में किसी भी प्रकार का निर्माण करने की अनुमति नहीं है। हालांकि इस भूमि पर कच्चे-पक्के मकान, शिक्षण संस्थान, फार्म हाउस, क्रेशर प्लांट, हॉट मिक्स प्लांट, कंक्रीट-रोड़ी मिक्स प्लांट के अलावा बदरपुर सैंड की धुलाई की होदियां अवैध तरीके से निर्मित हैं। 

अच्छी बारिश होने की संभावना
सिंचाई निर्माण खंड गाजियाबाद के अधिशासी अभियंता का कहना है कि इस वर्ष सामान्य से अधिक बारिश होने की संभावना है। जिस कारण बाढ़ की तीव्रता ज्यादा हो सकती है। बाढ़ के समय अवैध निर्माण के क्षतिग्रस्त होने से भारी जन-धन की हानि संभव है। बाढ़ आने पर शासन-प्रशासन या विभाग द्वारा कोई सुरक्षा प्रदान करना संभव नहीं होगा। 

हिंडन में जलस्तर बढ़ने की आशंका
उन्होंने कहा है कि डूब क्षेत्र की भूमि से तत्काल अवैध निर्माण हटा लिए जाएं। इसके अलावा नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर पनाह ले लेनी चाहिए। चूंकि आपात स्थिति में अवैध निर्माण कर्ताओं को जान के साथ माल का भी नुकसान उठाना पड़ सकता है। बाढ़ आने पर हिंडन का जलस्तर तेजी से बढ़ जाएगा।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.