पाकिस्तान का बड़ा कारनामा, इस्लामाबाद में पहली बार किन्नर को दिया ड्राइविंग लाइसेंस

  • Updated on 12/3/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पाकिस्तान के इस्लामाबाद  में एक नया और दिलचस्प मामला देखने को मिला। सूचना मिल रही है कि पाकिस्तान ने अपने यातायात के नियमों में बदलाव की नई पहल करते हुए पहली बार  एक किन्नर को ड्राइविंग लाइसेंस जारी किया है। इस बात की जानकारी पाक मीडिया ने दी है।  

दरअसल हम जिस किन्नर शख्स की बात कर रहे हैं वह पिछले 15 सालों से कार ड्राइव कर रहा है। उस किन्नर का नाम लैला अली बताया जा रहा है जिसने पुलिस से इस विषय में बातचीत की थी। जिसमें उसने राष्ट्रीय राजधानी में उनके समुदाय के लोगों को पुलिस द्वारा पीड़ित किए जाने सहित कई मुद्दों और समस्याओं के बारे में उन्हें सूचित किया।

न्यूजीलैंड में स्ट्रॉबेरी के अंदर मिली सूई, मचा हड़कंप

लैला किन्नर समुदाय की नेता हैं और राष्ट्रीय पहचान कार्ड तथा ड्राइविंग लाइसेंस पर उन्हें मोहम्मद अली के तौर पर सूचीबद्ध किया गया है। जियो टीवी के मुताबिक बातचीत में पुलिस प्रमुख ने उन्हें किन्नरों की समस्याओं के समाधान के लिए आश्वस्त किया है।

शादी के कार्ड पर छपवाई PM मोदी की तस्वीर, गिफ्ट में मांगा BJP के लिए वोट

जब उन्हें पता चला कि 15 वर्षों से वह बिना लाइसेंस के वाहन चला रही हैं तो उन्हें ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने की पेशकश की। उन्होंने कहा कि रावलपिंडी स्थित आवाज शेमाले फाउंडेशन की अध्यक्ष लैला ने वर्ष 2000 में अपने पिता से वाहन चलाना सीखा। खबर में बताया गया है कि सभी व्यावहारिक परीक्षण करने के बाद इस्लामाबाद पुलिस ने उन्हें लाइसेंस जारी कर दिया।  
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.