Wednesday, Jul 24, 2019

इस वजह से सुबह करने चाहिए हथेलियों के दर्शन, शास्त्रों में भी उल्लेख

  • Updated on 12/1/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हिंदू धर्म में शरीर पर तिल से लेकर हाथों के नाखून तक कई मान्यताए हैं, जिनपर कई दफा सवाल उठे हैं तो कई बार वैज्ञानिक लाभ भी सामने आए है।

हमें अक्सर घरवाले ऐसी कई मान्यताओं का पालन करने को कहते हैं, जिसमें सबुह उठते ही अपनी हथेलियों के दर्शन करना सबसे पहले आता है, लेकिन ऐसा क्यों कहा जाता है, इसके पीछे क्या लाभ छिपा है, चलिए आपको बताते हैं।

आपके सोने का तरीका खोलता है कई राज, जानकर हो जाएंगे हैरान

हथेलियां आपके व्यक्तित्व का आईना है। हथेली दर्शन के जरिए आप अपने बारे में काफी कुछ जान सकते हैं और बिगड़ा काम भी बना सकते हैं।

क्या कुंभकर्ण की नींद के पीछे था कोई श्राप? जानिए ये अनोखा किस्सा

अपनी हथेलियों के जरिए आप अपने जीवन में न सिर्फ सकारात्मक उर्जा का संचार कर सकते हैं बल्कि आपके हाथ की हथेलियां से आप अपने स्वास्थ के बारें भी काफी कुछ जान सकते हैं। 

ऐसा माना जाता है कि शास्त्रों के मुताबिक हाथों में ब्रह्मा, लक्ष्मी और सरस्वती तीनों का वास होता है। आचारप्रदीप के एक श्लोक में कहा गया है कि

कराग्रे वसते लक्ष्मी: करमध्ये सरस्वती।
करमूले स्थ‍ितो ब्रह्मा प्रभाते करदर्शनम्।। 

इस श्‍लोक का एक अन्‍य पाठ भी प्रचलित है, जो इस तरह है:

ऊं कराग्रे वसते लक्ष्‍मी: करमध्‍ये सरस्‍वती।
करमूले च गोविंद: प्रभाते कुरुदर्शनम्।।

इस श्लोक का अर्थ है कि हथेली के सबसे आगे के भाग में लक्ष्मी जी, बीच के भाग में सरस्वती जी और मूल बाग में ब्रह्माजी निवास करते हैं, इसलिए सुबह दोनों हथेलियों के दर्शन करना चाहिए।

खुशियों के प्रवेश के लिए दरवाजे पर लगाएं ये चीजें, मिलेगा लाभ

सुबह हाथों के दर्शन के पीछे की यही मान्यता है कि जब व्यक्ति पूरे विश्वास के सात अपनी हथेलियों को देखता है तो उसे विश्वास हो जाता है कि उसके शभ कर्मों में देवता भी सहायक होंगे। जब वह अपने हाथों पर भरोसा करके सकारात्मक कदम उठाएगा,तो भाग्य भी उसका साथ देगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.