Tuesday, Dec 07, 2021
-->
foreign universities are not considering getting covaxine as vaccination: abvp rkdsnt

विदेशी विवि कोवैक्सीन लगवाने को टीकाकरण नहीं मान रहे हैं: एबीवीपी

  • Updated on 6/16/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से संबद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को ज्ञापन देकर कहा कि विदेशी विश्वविद्यालय कोवैक्सीन टीका लगवाने वाले विद्याॢथयों के टीकाकरण को मान्यता नहीं दे रहे हैं। छात्र संगठन ने मंत्री का ध्यान इस ओर भी दिलाया है कि विदेशी विश्वविद्यालय में दाखिला लेने वाले 18 साल से कम उम्र के विद्यार्थी टीकाकरण के दायरे में नहीं आते हैं।    

महामारी से हुए नुकसान के बाद अब अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने की जरूरत: PM मोदी

 ज्ञापन में कहा गया है कि अमेरिका और यूरोपीय देशों समेत कई मुल्क कोवैक्सीन लगवाने वाले भारतीय विद्याॢथयों के साथ ऐसा व्यवहार कर रहे हैं कि उनका कोविड रोधी टीकाकरण नहीं हुआ है। उसके मुताबिक, इस वजह से भारतीय विद्याॢथयों को भारी असुविधा हो रही है और शैक्षणिक नुकसान भी हो रहा है।      इसके अलावा, उच्च माध्यमिक के कई विद्याॢथयों ने विदेशी विश्वविद्यालयों में दाखिले के लिए आवेदन किया है। एबीवीपी ने कहा कि 18 साल से कम उम्र के जिन छात्रों ने अमेरिका या ब्रिटेन के विश्वविद्यालयों में दाखिले के लिए एसएटी पास कर ली है, वे टीकाकरण नीति के तहत कवर नहीं हो रहे हैं जिस वजह से उन्हें शैक्षणिक नुकसान हो सकता है।    

कोरोना की दवा खरीदने में एक्टर सोनू सूद के रोल की जांच की जाए: हाई कोर्ट 

 एबीवीपी की राष्ट्रीय सचिव सुश्री निधि त्रिपाठी ने कहा, 'आनिश्चितता और स्थिति की गंभीरता को देखते हुए, एबीवीपी ने केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री से अनुरोध किया है कि वे विदेश में पढऩे के इच्छुक छात्रों के सामने आने वाले मुद्दों को देखें और हल करें।’’ 

कोविशील्ड: अंतराल बढ़ाने पर विशेषज्ञों की असहमतियों की खबरों को मोदी सरकार ने किया खारिज

 


 

comments

.
.
.
.
.