Saturday, May 26, 2018

बल्लू की मौत के बारे में पुलिस, वन विभाग और ग्राम प्रधान की अलग-अलग कहानी

  • Updated on 5/16/2018

देहरादून/ब्यूरो। अपर जौलीग्रांट गांव के बल्लू की मौत का रहस्य दिन-प्रतिदिन गहराता जा रहा है। डोईवाला थाने की पुलिस इस पूरे मामले पर कुंडली मारकर बैठ गई है। यहां तक कि डोईवाला पुलिस ने एसएसपी निवेदिता कुकरेती को भी गुमराह करने का प्रयास किया है। 

खुद एसएसपी ने बताया था कि उनको थाने की ओर से बताया गया कि बल्लू की मौत जंगल में पेड़ से गिरने के कारण हुई है। उधर, अपर जौलीग्रांट के प्रधान सागर मनवाल और थानो वन क्षेत्र के रेंजर उदय गौड़ की बातें पुलिस की कहानी को खंडित कर रही हैं।

इस सम्बंध में जब थानो के रेंजर उदय गौड़ से बात की गई, तो उन्होंने बताया कि दो दिन से वह और उनकी टीम पूरे जंगल की खाक छान चुके हैं। उन लोगों को जाखन नदी के किनारे कहीं भी कोई ऐसा स्थान नहीं मिला, जहां किसी का दाह संस्कार किया गया हो। 

दून में सड़ता कूड़ा अब सियासत के आ रहा काम, भिड़ रहे भाजपाई और कांग्रेसी

साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि जंगल में कहीं गोली चलने अथवा शिकारियों की चहलकदमी का कोई निशान उनकी टीम को नजर नहीं आया। वहीं, ग्राम प्रधान सागर मनवाल का कहना है कि बल्लू का अंतिम संस्कार जंगल में जाखन नदी के किनारे ही हुआ है। 

अब रेंजर और उनकी टीम की तफ्तीश सही है या खुद दाह संस्कार में शामिल होने वाले ग्राम प्रधान की, यह जांच का विषय है। यह एक ऐसी कड़ी है जिससे एक सिपाही भी पूरे मामले को खोलकर रख सकता है, अगर पुलिस चाहे तो।

मनवाल का कहना है कि वह अपनी ससुराल गए हुए थे। रविवार को जब वह गांव लौटे, तो सुबह उनके पास बल्लू के परिजनों का फोन आया कि उसकी मौत हो गई है। जब वह बल्लू के घर गए तो उन्हें बताया गया कि बल्लू मिर्गी का मरीज था। वह जंगल की ओर गया था, जहां उसे दौरा पड़ा। 

सुब्रतो कप अंडर-17: देहरादून सहित इन टीमों ने किया जीत से आगाज

वह गिर पड़ा। उसके सिर पर चोट आई। उसको अस्पताल ले जाने से पहले ही घर में उसकी मौत हो गई। प्रधान का यह भी कहना है कि उन्होंने उसके शव को देखा था। उसके शरीर पर चोट का निशान था। उससे खून बह रहा था। 

क्या वह निशान गोली का था, पूछे जाने पर प्रधान का कहना था कि इस बारे में वह कुछ नहीं कह सकते। उधर, एसएसपी के निर्देश पर खुफिया विभाग के लोग भी बल्लू के घर गए थे। उन्हें बल्लू के परिजनों ने बताया है कि उसके सीने में दर्द हुआ, हम अस्पताल ले जाते, उससे पहले उसकी मौत हो गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.