Thursday, Jan 23, 2020
former cm farooq abdula will remain under arrest for 3 months official confirmed

जम्मू-कश्मीर: पूर्व CM फारुख अब्दुला और 3 महीने रहेंगे नजरबंद, अधिकारी ने की पुष्टि

  • Updated on 12/15/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के पूर्व सीएम फारुख अब्दुला (Farooq Abdullah) अभी 3 महीने जेल में रहेंगे। इस बाबत अधिकारियों ने जानकारी दी है। उन्होंने कहा है कि नेशनल कांफ्रेस (नेकां) के नेता फारुख अब्दुला को जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत पहली बार 17 सितंबर को नजरबंद किया गया था। तब से वे हिरासत में है। इस अधिकारी के मुताबिक फारुख अब्दुला पर पीएसए के 'सरकारी आदेश के तहत मामला दर्ज है। जिसमें किसी व्यक्ति को बगैर सुनवाई के तीन से छह महीने तक जेल में रख जा सकता है।

मुकम्मल आजादी अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों के हटने पर मिली : बिट्टा

जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाये गये 
मालूम हो कि जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद से राज्य को 2 हिस्से में बांट दिया गया है। एक जम्मू-कश्मीर तो दूसरा लद्दाख के नाम से 2 केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है। इस बाबत 5 अगस्त को गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में इसकी घोषणा की थी। बाद में राज्यसभा से भी पास होने के बाद धारा 370 को हटा दिया गया है।

उत्तर भारत में शीतलहर का कहर जारी, श्रीनगर हवाईअड्डे पर विमानों की आवाजाही बंद

सरकार ने शांति बहाल के लिये बताया जरुरी कदम

लेकिन मोदी सरकार ने तत्काल ऐहितियात के तौर पर पूर्व सीएम फारुख अब्दुला,उमर अब्दुला और महबूबा मुफ्ती को नजरबंद रखा है। केंद्र सरकार ने तर्क दिया है कि चूंकि कश्मीर घाटी में शांति बहाल करना उनकी पहली प्राथमिकता है। इसलिये इन नेताओं को नजरबंद किया गया है। हालांकि भारी सुरक्षा बलों की तैनाती कश्मीर में की गई है ताकि आतंकी को मुंहतोड़ जवाब दिया जा सकें।    
 

comments

.
.
.
.
.