Friday, Jan 18, 2019

विधानसभा के सामने उपवास करेंगे पूर्व सीएम हरीश रावत

  • Updated on 1/11/2019

हरिद्वार/ब्यूरो। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने गन्ना किसानों की समस्याओं और गन्ना मूल्यों के भुगतान की मांग को लेकर मुख्यमंत्री को जिलाधिकारी के माध्यम से ज्ञापन भेजा। हरीश रावत के साथ किसान और कांग्रेस कार्यकर्ता भी मौजूद रहें। हरदा ने वहां फिर ऐलान किया कि सरकार ने यदि किसानों की समस्याओं का समाधान नहीं किया तो वे विधानसभा सत्र के दौरान उपवास पर बैठेंगे। 

दोपहर के वक्त पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत किसानों और कांग्रेसियों को लेकर रोशनाबाद पहुंचे। डीएम दीपक रावत को ज्ञापन सौंपा और मौजूद लोगों को ज्ञापन पढ़कर भी सुनाया। पूर्व मुख्यमंत्री ने ज्ञापन में कहा है कि हरिद्वार जनपद सहित प्रदेश के किसानों का करोड़ों रूपये के गन्ना मूल्यों का भुगतान चीनी मिलों पर बकाया चल रहा है। 

औली में स्कीइंग स्लोप पर शुल्क वसूलने पर सरकार और जीएमवीएन का पुतला फूंका

बार-बार मांग करने के बावजूद राज्य सरकार व चीनी मिलें इस ओर ध्यान नहीं दे रही हैं। जिसकी वजह से किसानों को गंभीर आर्थिक दौर से गुजरना पड़ रहा है। किसानों के हितों को ध्यान रखते हुए बकाया गन्ना मूल्यों का तत्काल भुगतान किया जाना चाहिये। उन्होंने ये भी कहा कि समय पर खेत खाली नहीं होने पर अगली फसल भी प्रभावित होने की आशंका बनी रहती है। 

उन्होंने साफ कहा कि यदि सरकार किसानों के गन्ना बकाया का भुगतान व उचित समय पर गन्ने आदि की खरीद नहीं करती है तो फिर विधानसभा के बाहर वे खुद उपवास पर बैठेंगे। इस दौरान पूर्व शहर अध्यक्ष पुरूषोत्तम शर्मा, नईम कुरैशी, प्रदेश प्रवक्ता मनीष कर्णवाल, कांग्रेस कमेटी के अनुशासन समिति के सदस्य धर्मेन्द्र प्रधान, जिला पंचायत उपाध्यक्ष राव आफाक, ठाकुर रतन सिंह, वीर सिंह आदि मौजूद रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.