Wednesday, Dec 07, 2022
-->
former pm dr manmohan singh centre freezing dearness allowance pragnt

कर्मचारियों का डीए फ्रीज करने पर पूर्व PM मनमोहन सिंह ने कहा- सरकार का फैसला सही नहीं

  • Updated on 4/25/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने केंद्रीय कर्मचारियों का डीए फ्रीज करने के केंद्र सरकार (Central Government) के कदम की आलोचना करते हुए कहा है कि सरकारी सेवकों और सुरक्षाबलों पर दिक्कतें डालना सही नहीं है। ये बात मनमोहन सिंह ने कांग्रेस (Congress) की ओर से जारी पार्टी के सलाहकार समूह की बैठक के दौरान कही है।

चीन से आई थी खराब कोरोना टेस्ट किट, स्वास्थ्य मंत्री बोले- 'होंगी वापिस, नहीं दिए अभी पैसे'

सरकार का फैसला सही नहीं- पूर्व पीएम
वीडियो के मुताबिक सिंह ने यह भी कहा कि कांग्रेस को इस वक्त इन सरकारी कर्मचारियों और सैनिकों के साथ खड़े रहना है। सिंह हाल ही में गठित कांग्रेस सलाहकार समूह के अध्यक्ष हैं। इस समूह की बैठक एक दिन के अंतराल पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से होती है। उन्होंने कहा, 'हमें उन लोगों के साथ खड़े होना है जिनके भत्ते काटे जा रहे हैं। मेरा मानना है कि इस वक्त सरकारी कर्मचारियों और सशस्त्र बलों के लोगों के लिए मुश्किल पैदा करने की जरूरत नहीं थी।'

पीएम केयर्स फंड को लेकर यशवंत सिन्हा बोले- अब भगवान ही मालिक है

कांग्रेस नेताओं ने बोला हमला
बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा कि एक तरफ तो सेंट्रेल विस्टा परियोजना पर पैसे खर्च हो रहे हैं और दूसरी तरफ मध्य वर्ग से पैसे लिए जा रहे हैं। ऐसा नहीं है कि यह पैसा गरीबों को दिया जा रहा है। पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम और पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी कहा कि सरकार को कर्मचारियों को भत्ते कम करने के बजाय सरकार को सेंट्रल विस्टा परियोजना और दूसरे गैरजरूरी खर्च रोकने चाहिए।

राहुल गांधी ने दिया सुझाव- पीएम मोदी महंगाई भत्ते रोकने के बजाए बुलेट ट्रेन जैसे परियोजना को रोंके 

राहुल गांधी का पीएम मोदी को सुझाव
इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते रोकने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से उपजे संकट के समय यदि बुलेट ट्रैन जैसे प्रोजेक्ट को रोका गया होता तो ज्यादा अच्छा होता। उन्होंने कहा कि यहीं कर्मचारी दिन रात कोरोना वॉरियर्स के तौर पर केंद्र सरकार की सहयोग कर रही है। उनके DA को रोकना सही नहीं है। उन्होंने मोदी सरकार के इस फैसले को अमानवीय करार दिया है। उन्होंने कहा कि देश की इकॉनोमी को जरुर धक्का लगा है। लेकिन बुलेट ट्रेन जैसे परियोजना को फिलहाल ठंडे बस्ते में सरकार को डाल देना चाहिये। उन्होंने कहा कि आज जनता की सेवा कर रहे केंद्रीय कर्मचारियों, पेंशन भोगियों और देश के जवानों का महंगाई भत्ता (DA) काटने का फैसला बिल्कुल गलत है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.