Tuesday, Nov 30, 2021
-->
foundation stone of noida international airport was laid, the leaders were under house arrest

चंद घंटे बाद नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास, नजरबंद किए गए नेता

  • Updated on 11/25/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजीटल। ग्रेटर नोएडा के जेवर क्षेत्र में नोएडा इंटरनेशनल ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट के शिलान्यास में चंद घंटे शेष रह गए है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आने का इंतजार बेब्रसी से किया जा रहा है। शिलान्यास स्थल पर तैयारियां पूरी हो चुकी है। चप्पे चप्पे को एक बार फिर बम निरोधक दस्ता और एसपीजी के जवानों के साथ साथ पुलिस टीम भी जांच पड़ताल में जुटी हुई है।

शिलान्यास स्थल पर भूमि पूजन के लिए पूजा कराने वाले पंडित अपनी टीम के साथ पहुंच चुके है। वहीं शिलान्यास स्थल से चंद फासले पर भाजपा द्वारा आयोजित जनसभा का मंच भी सज चुका है। नेताओं के साथ साथ ग्रामीणों व भाजपा समर्थकों का आना भी शुरू हो गया है।

महज 1095 दिनों में बन कर तैयार होगा झेवर एयरपोर्ट, परिचालन 2024 से

इसीबीच पुलिस ने इस शिलान्यास का विरोध करने वाले विपक्षी दलों के नेताओं को भी एक एक कर घरों में नजरबंद करना शुरू कर दिया है। राष्ट्रीय लोकदल के जिलाध्यक्ष भूपेन्द्र चौधरी, आजाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष रविन्द्र भाटी के अलावा सम्राट मिहिर भोज प्रकरण के बाद शिलान्यास स्थल पर प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने का एलान करने वाले  गुर्जर नेताओं और किसान संगठनों के नेताओं को भी पुलिस ने नोटिस भेजा था और आधी रात के बाद उनके घरों पर पुलिस तैनात कर नजर बंद कर दिया है। नोएडा पुलिस किसी भी तरह का शिलान्यास कार्यक्रम में व्यवधान नहीं चाहती है।  

नोएडा के विकास को नई दिशा देगा एयरपोर्ट
प्रधानमंत्री पीएम मोदी आज जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का शिलान्यास करेंगे। इसके साथ ही नोएडा व उसके आसपास विकास की एक नई राह खुलेगी। यूपी के साथ साथ एनसीआर में बड़ी संख्या में रोजगार के नए द्वार खुलेंगे। जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट 6,200 हेक्टेयर जमीन पर बनाया जाएगा।

यमुना प्राधिकरण ने इसका 355 हेक्टेयर क्षेत्रफल हाल ही में बढ़ाया है। जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण चार चरण में किया जाएगा। पहला चरण 2024 तक पूरा होगा। इसमें 1,334 हेक्टेयर जमीन का विकास होगा। पहले चरण में 12 मिलियन क्षमता पैसेंजर के साथ निर्माण कार्य शुरू होगा। दूसरे चरण साल 2032 तक पूरा होगा। तीसरा चरण 2037 और चौथा चरण 2050 तक पूरा होगा।

चौथा चरण 70 मिलियन पैसेंजर का होगा। इस तरह चारों चरण को मिलाकर यह 29,560 करोड रुपए की परियोजना है। इसकी एक बड़ी खास बात ये होगी कि यह प्रूदषण मुक्त होगा। यह उत्तर प्रदेश का पांचवां अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा होगा। पहले चरण में 1334 हेक्टेयर में दो रनवे बनेंगे। पहले चरण में 1.2 करोड़ यात्रियों के सफर करने की संभावना है। एयरपोर्ट में कार्गो की सुविधा के अलावा एमआरओ सिस्टम भी होगा।

comments

.
.
.
.
.