Sunday, Dec 04, 2022
-->
four-arrested-for-obstructing-acb-team-at-aap-mla-s-residence-police

AAP विधायक के आवास पर ACB टीम की कार्रवाई बाधित करने के आरोप में 4 गिरफ्तार : पुलिस 

  • Updated on 9/18/2022

 

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक अमानतुलला खान के आवास पर छापेमारी की कार्रवाई करने गई भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) की टीम को ड्यूटी करने से कथित तौर पर रोकने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी।      उन्होंने बताया कि मामले में शकील अहमद (45), अफ्सर (20), अनवर (31) और सिकंदर को शनिवार को गिरफ्तार किया गया।    

गुजरात में हार के डर से आप को ‘कुचलने’ की कोशिश कर रही है भाजपा : केजरीवाल

 एसीबी ने दिल्ली वक्फ बोर्ड में भर्ती के दौरान की गई कथित अनियमितताओं की जांच के सिलसिले में शुक्रवार को चार परिसरों में छापेमारी की कार्रवाई की थी और उन्हें गिरफ्तार किया था। खान दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘हमने एसीबी अधिकारियों को उनका काम करने से रोकने के मामले में प्राथमिकी दर्ज की है और इस प्रकरण में चार लोगों को गिरफ्तार किया है; मामले की जांच चल रही है।  

गुजरात चुनाव से पहले पूर्व CM वाघेला ने KCR से की मुलाकात, सियासत गरमाई  

   इस घटना का कथित वीडियो सोशल वीडियो पर वायरल हुआ है, जिसमें कुछ लोगों द्वारा एसीबी अधिकारियों के साथ धक्का-मुक्की करते देखा जा सकता है। वहां मौजूद लोगों में से एक व्यक्ति अधिकारी से पूछता नजर आ रहा है कि ‘‘तुम यहां क्यों आए हो?’’ एसीबी ने बताया कि जब उसकी टीम खान के आवास पर पहुंची तो उनके रिश्तेदारों और जाननेवालों ने उनके अधिकारियों पर हमला कर दिया।    

बेरोजगारी दर सबसे ऊंचे स्तर पर, BJP सरकार की केवल अमीरों को बचाने में रुचि: राहुल गांधी 

 एसीबी ने बताया है कि उसने शुक्रवार की कार्रवाई के दौरान खान के आवास से 24 लाख रुपये की नकदी , दो बिना लाइसेंस के हथियार और कुछ कारतूस बरामद किए हैं। भ्रष्टाचार निरोधी एजेंसी के मुताबिक खान ने दिल्ली वक्फ बोर्ड में नियमों और सरकारी निर्देशों का उल्लंघन कर 32 लोगों की भर्ती की। उन पर एजेंसी ने भ्रष्टाचार और पक्षपात का आरोप लगाया है। खान पर दिल्ली वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को गैर कानूनी तरीके से किराए पर देने का भी आरोप है।

 

 

 

 

 

comments

.
.
.
.
.