Sunday, Sep 19, 2021
-->
free corona vaccination in jp greens society greater noida kmbsnt

नोएडा की जेपी ग्रीन्स सोसाइटी के लोगों को फ्री मिली वैक्सीन, आयोजित हुए थे दो कैंप

  • Updated on 6/7/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटस। पैसे वाले लोगों के लिए सब कुछ संभव हो जाता है। इस बात की बानगी देती है उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोए़डा की जेपी ग्रीन्स सोसाइटी। जब देश के कई राज्यों में लोग वैक्सीन के लिए भटक रहे हैं। कई लोग ऐसे हैं जिन्हें वैक्सीन की दूसरी डोज के लिए धक्के खाने पड़ रहे हैं। तब जेपी ग्रीन्स सोसाइटी के लोगों को 120 किलोमीटर दूर से निशुल्क टीके प्राप्त हुए हैं। अलीगढ़ के नौरंगाबाद में एक शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (यूपीएचसी) से ये टीके लाए गए थे। 

रिकॉर्ड से पता चलता है कि ग्रेटर नोएडा में जेपी ग्रीन्स के लगभग 200 सदस्यों को पिछले महीने के अंत में सोसायटी में आयोजित दो कैंप्स में वैक्सीन लगाई गई थी। इन लाभार्थियों में 18-44 की उम्र के बीच और 45 से ऊपर के लोग शामिल थे।

गुरमीत राम रहीम सिंह कोरोना पॉजिटिव, पहले की थी पेट में दर्द की शिकायत 

21 मई और 27 मई को सोसाइटी में लगा था कैंप 
इसी सोसाइटी के निवासियों ने नाम न छापने की शर्त पर बोलते हुए कहा कि वैक्सीनेशन के कैंप 21 मई और 27 मई को सोसाइटी में ही आयोजित किए गए थे। वैक्सीनेशन के बाद मिले सर्टिफिकेट से पता चलता है कि लाभार्थियों को नौरंगाबाद में यूपीएचसी से ही वैक्सीन मुहैया करवाई गई। यहीं से उनको प्रमाण पत्र जारी किए गए थे।

इस मामले में उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद का कहना है कि यह मामला हमारे संज्ञान में आया है। मैंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) अलीगढ़ से मामले की जांच करने को कहा है। 

कोरोना के कारण लैब टेक्नीशियन की हो गई थी मौत, सरकार ने परिजनों को सौंपा 1 करोड़ का मदद

जेपी ग्रीन्स में नहीं दी गई थी वैक्सीनेशन की अनुमति 
वहीं दूसरी तरफ नोएडा के अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी, डॉ नीरज त्यागी, जो जिले में इस तरह के शिविरों के लिए अनुमति जारी करने के प्रभारी हैं, का कहना है कि हमारे कार्यालय ने जेपी ग्रीन्स में दी गई तारीखों पर टीकाकरण शिविर आयोजित करने की कोई अनुमति नहीं दी। रिकॉर्ड बताते हैं कि नौरंगाबाद में उपलब्ध वैक्सीन कोवैक्सिन है। 31 मई तक, आधिकारिक रिकॉर्ड बताते हैं, यूपीएचसी में उपलब्ध खुराक 45 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों के लिए निर्धारित की गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.