Friday, May 14, 2021
-->
from march the elderly can also get vaccinated paid and given at private centers prshnt

मार्च से बुजुर्गों को भी वैक्सीन, पैसा देकर निजी केंद्रों पर भी लगवा सकते हैं टीका, जानें नियम

  • Updated on 2/25/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में एक बार फिर कोरोना (Coronavirus) मामलों में बढ़ोतरी दर्ज किया जा रहा है, इसी बीच कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन (Vaccination) का काम तेजी से जारी है, वहीं सरकार ने बुधवार को फैसला किया कि 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों तथा किसी दूसरी बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को 1 मार्च से कोरोना वायरस रोधी टीका सरकारी केंद्रों पर नि:शुल्क लगाया जाएगा। वहीं, निजी क्लिनिकों एवं केंद्रों पर वे शुल्क देकर भी टीका लगवा सकते हैं। देश भर में 10 हजार सरकारी केंद्रों और 20 हजार निजी केंद्रों पर यह टीका लगाया जाएगा।

उत्तर-दक्षिण के फेर में पार्टी के भीतर ही अलग-थलग पड़े राहुल गांधी

कोविशिल्ड या कोवैक्सीन में से टीका चुनने का विकल्प
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में उक्त निर्णय किया गया। बैठक के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने फैसले की जानकारी दी। यह पूछे जाने पर कि क्या लोगों को कोविशिल्ड या कोवैक्सीन में से टीका चुनने का विकल्प होगा, केंद्रीय मंत्री ने कहा, भारत ने दो टीकों को मंजूरी दी है और दोनों टीके प्रभावी हैं और उनकी क्षमता सिद्ध है। यह पूछे जाने पर कि 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को टीका लगाने के चरण में क्या प्रधानमंत्री केंद्रीय मंत्रियों को भी टीका लगाया जायेगा, जावड़ेकर ने कहा कि जो लोग टीका लगवाना चाहते हैं, वे 1 मार्च से शुरू हो रहे अभियान में लगवा सकते हैं।  

PM मोदी बोले, बेकार पड़ी कंपनियों को बेचकर 2.5 लाख करोड़ जुटाएगी सरकार

सबसे पहले स्वास्थ्य क्षेत्र के योद्धाओं को टीका लगाने की शुरूआत
वहीं, जावड़ेकर के साथ मौजूद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अधिकांश मंत्री भुगतान करके टीका लगवाने का विचार कर रहे हैं।  कुछ स्थानों (देशों) में प्रधानमंत्रियों और मंत्रियों ने शुरूआत में ही टीके लगवाए, लेकिन हमने अपने यहां सबसे पहले स्वास्थ्य क्षेत्र के योद्धाओं को टीका लगाने की शुरूआत की। 

केंद्रीय कर्मचारी और पेंशनरों की सैलरी बढ़ा सकती है सरकार, मिल सकता है इस साल DA

बीमार लोगों का भी हो सकेगा टीकाकरण
वहीं 1 मार्च से पूरे देश में कोरोना टीकाकरण के नियम बदल जाएंगे, जिसके बाद 45 से ज्यादा उम्र के बीमार लोगों का भी टीकाकरण हो सकेगा। सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण निशुल्क होगा। वहीं प्राइवेट अस्पताल में वैक्सीन के लिए कीमत चुकानी होगी। वैक्सीन की कीमत को लेकर लोगों के बीच कायास भी लगने शुरू हो गए हैं।

एम्स निदेशक प्रोफेसर रणदीप गुलेरिया  के मुताबिक प्राइवेट अस्पतालों में भी वैक्सीन की कीमत उचित रखी जाएगी। एम्स निदेशक के मुताबिक प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीन की कीमत में जरूरी खर्च जोड़े जाएंगे, जिससे अस्पतालों को नुकसान ना हो। कोविड जांच के दौरान ऐसा पहले भी किया जा चुका है। ऐसा कोविड जांच की कीमतों को गलत इस्तेमाल से बचाने के लिए किया गया।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.