Tuesday, Sep 25, 2018

परंपरा और आधुनिकता के अद्धुत संगम का गवाह बनेगा कुंभ 2019

  • Updated on 9/13/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। परम्पराओं और संस्कृति के बारे में कहा जाता है कि ये आसानी से खत्म नहीं होती, बल्कि समय के बदलाव के साथ खुद को ढालकर नए ढंग से हमारे जीवन का हिस्सा बन जाती हैं। भारत का विश्व प्रसिद्ध कुंभ मेला इस बात की पुष्टी करते हुए, परम्परा में आधुनिकता का अद्भुत संगम होने जा रहा है।

कुंभ लोगों के स्वागत के लिए पूरे तामझाम के साथ तैयार रहेगा। इसमें युवाओं को आकर्षित करने के लिए सेल्फी प्वाइंट से लेकर इमरजेंसी के मौके पर वाटर और एयर एंबुलेंस जैसे इंतजाम शामिल होंगे। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ कुंभ को यादगार बनाने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहते हैं।

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों और सुरक्षा बलों में मुठभेड़ जारी, 9 जवान घायल, 2 आतंकी ढेर

10 एकड़ में 'संस्कृत ग्राम' 
इस बारे में मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडे ने निर्देश जारी कर दिए है। जानकारी के मुताबिक कुंभ मेले में अंतराष्ट्रीय स्तर के बैलेट कलाकारों द्वारा रामलीला का आयोजन भी किया जाएगा, जो 55 दिन तक चलेगा। इसके अलावा 10 एकड़ क्षेत्र में 'संस्कृत ग्राम' भी बनाया जाएगा।

संस्कृत ग्राम का आयोजन देश दुनिया को कुंभ की ऐतिहासिकता दिखाने के मकसद से किया जाएगा। विदेशी लोगों को कुंभ की जानकारी से मुखातिब कराने के लिए खास इंतजाम किए रहे हैं, जिनमें कुंभ की अब तक की यात्रा के बारे में जानकारी उपलब्ध कराती पत्रिकाओं से लेेकर, निशानी के तौर पर गंगा जल को भी दिए जाने की योजना है।

धोनी ने किया खुलासा, बताई वनडे और T-20 की कप्तानी छोड़ने की वजह

देश-विदेश से कलाकार
खास बात यह है कि यह आयोजन लोकसभा 2019 चुनाव के लिहाज से भी खासा असरदार साबित हो सकता है। इस लिहाज से भाजपा और योगी सरकार इस मौके को भुनाने में कोताही नहीं छोड़ना चाहेगी। इसी कारण उत्तर प्रदेश सरकार कुंभ मेले पर 3,000 करोड़ रूपये खर्च कर रही है।

सबका मकसद इस आयोजन को वर्ल्ड क्लास लेवल का बनाने पर है, इसलिए 196 देशों से NRI भी आमंत्रित किए जाएंगे। कुंभ का स्पेशल 'लोगो' पहले ही योगी सरकार के द्वारा लॉन्च किया जा चुका है। 

भारत के सांस्कृतिक विभाग के सचिव जितेंन्द्र कुमार ने कहा, "भारत और दुनिया भर से कलाकारों को स्टेज पर रामलीला और कृष्णलीला में भाग लेने के लिए बुलाया जा रहा है। यह दोनों मंच 2019 के कुंभ में सजेंगे।" बता दें, कुंभ के सभी सांस्कृतिक प्रोग्राम 55 दिन तक चलेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.