Sunday, Dec 04, 2022
-->
Gadkari hits out at his critics, shares video of the event

गडकरी ने अपने आलोचकों पर निशाना साधा, कार्यक्रम का साझा किया वीडियो

  • Updated on 8/25/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बृहस्पतिवार को अपने आलोचकों और मीडिया के एक वर्ग पर निशाना साधते हुए कहा कि राजनीतिक फायदे के लिए उनके बयानों को गलत तरह से पेश किया जा रहा है। अपने बयानों को लेकर अक्सर खबरों में रहने वाले गडकरी को पिछले सप्ताह भाजपा संसदीय बोर्ड से हटा दिया गया था। उन्होंने आज कहा कि वह सरकार और पार्टी के हित में इस तरह के बयान देने वालों के खिलाफ कानूनी रास्ता अपनाएंगे। गडकरी ने ट््वीट किया, ‘‘आज, एक बार फिर मुख्यधारा के मीडिया, सोशल मीडिया के एक वर्ग और कुछ लोगों द्वारा राजनीतिक फायदे के लिए मेरे खिलाफ घृणित और मनगढ़ंत अभियान जारी रखने के प्रयास किये जा रहे हैं और सार्वजनिक समारोहों में मेरे बयानों को बिना सही संदर्भ के पेश किया जा रहा है।’’  

सेवानिवृत्त हो चुके या होने वालों की देश में कोई कीमत नहीं है : प्रधान न्यायाधीश रमण 

    केंद्रीय मंत्री ने मंगलवार को एक पुस्तक विमोचन समारोह में दिये गये अपने भाषण के यूट्यूब लिंक को ट््वीट किया जिसका सोशल मीडिया पर इस्तेमाल किया जा रहा है।  उन्होंने भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा और प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग करते हुए ट््वीट किया, ‘‘मैं ऐसे तत्वों के इस तरह के दुर्भावनापूर्ण एजेंडे से कभी परेशान नहीं हुआ लेकिन सभी संबंधित लोगों को चेताया जा रहा है कि इस तरह की शरारत जारी रही तो मैं सरकार, पार्टी और अपने लाखों परिश्रमी कार्यकर्ताओं के व्यापक हित में कानून का रास्ता अपनाने में संकोच नहीं करुंगा।’’  अक्सर पार्टी और संगठन से जुड़ी कहानियां सुनाने वाले गडकरी ने पुस्तक विमोचन समारोह में एक पुरानी घटना का उल्लेख किया जिसमें उन्होंने महाराष्ट्र के एक गांव में सड़क बनाने का जिम्मा लिया था और संबंधित अधिकारी को कहा था कि अगर वह उनके साथ खड़ा रहा तो सही है लेकिन अगर ऐसा नहीं भी होता तो उन्हें कोई दिक्कत नहीं है।   

शेरगिल ने छोड़ी कांग्रेस, कहा- पार्टी में चाटुकारिता करने वाले हावी 

  उन्होंने इस बातचीत का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘‘मुझे नतीजों की चिंता नहीं है लेकिन मैं यह काम करुंगा। अगर मुमकिन है तो मेरे साथ रहो, वरना मुझे कोई परेशानी नहीं है।’’  इस बयान को सोशल मीडिया पर इस तरह से पेश किया जा रहा है कि गडकरी को अपना पद खोने की कोई चिंता नहीं है। आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने वीडियो ट््वीट करके पूछा था कि गडकरी ऐसा क्यों कह रहे हैं। सिंह ने बृहस्पतिवार सुबह ट््वीट किया, ‘‘भाजपा में बहुत बड़ी गड़बड़ चल रही है।’’ गडकरी का ट््वीट भी आज तब आया है जब एक प्रमुख अखबार की खबर में भाजपा के कई वरिष्ठ सूत्रों के हवाले से लिखा गया है कि पूर्व भाजपा अध्यक्ष को कुछ अलग और सुॢखयों में रहने वाले बयान देने की प्रवृत्ति के लिए संसदीय बोर्ड से हटाया गया है। गडकरी ने ट््वीट में लिखा कि वह स्थिति स्पष्ट करने के लिए पुस्तक विमोचन में वास्तव में जो बोला था, उसका लिंक साझा कर रहे हैं।

राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने इतिहासकार इरफान हबीब को बताया ‘गुंडा’

 

comments

.
.
.
.
.