Thursday, Jul 02, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 2

Last Updated: Thu Jul 02 2020 03:24 PM

corona virus

Total Cases

606,907

Recovered

360,378

Deaths

17,860

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA180,298
  • NEW DELHI89,802
  • TAMIL NADU86,224
  • GUJARAT32,643
  • UTTAR PRADESH24,056
  • RAJASTHAN18,427
  • WEST BENGAL17,907
  • ANDHRA PRADESH16,097
  • TELANGANA15,394
  • HARYANA15,201
  • KARNATAKA14,295
  • MADHYA PRADESH13,861
  • BIHAR10,392
  • ASSAM7,836
  • ODISHA7,545
  • JAMMU & KASHMIR7,237
  • PUNJAB5,418
  • KERALA4,312
  • UTTARAKHAND2,831
  • CHHATTISGARH2,795
  • JHARKHAND2,426
  • TRIPURA1,385
  • GOA1,251
  • MANIPUR1,227
  • LADAKH964
  • HIMACHAL PRADESH942
  • PUDUCHERRY714
  • CHANDIGARH490
  • NAGALAND451
  • DADRA AND NAGAR HAVELI203
  • ARUNACHAL PRADESH187
  • MIZORAM151
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS97
  • SIKKIM88
  • DAMAN AND DIU66
  • MEGHALAYA51
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
Gambhir said this about Virat''s success in T20 musrnt

टी20 में विराट की सफलता को लेकर गंभीर ने कही ये बात

  • Updated on 6/16/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने वर्तमान कप्तान विराट कोहली की टी20 प्रारूप में सफलता का श्रेय उनकी फिटनेस और स्ट्राइक रोटेट करने के कौशल को दिया। टेस्ट और एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय में सफल कोहली ने टी20 में भी अपनी विशेष छाप छोड़ी है। उन्होंने टी20 अंतरराष्ट्रीय में अब तक 82 मैचों में 50.8 की औसत से 2794 रन बनाये हैं।

गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम में कहा, ‘वह (कोहली) हमेशा एक स्मार्ट क्रिकेटर रहा है लेकिन उसने अपनी शानदार फिटनेस के कारण अपने पूरे टी20 करियर को बेहद सफल बना दिया।’ उन्होंने कहा, ‘शायद इसलिए कि उसके पास क्रिस गेल जैसी ताकत नहीं है, उसके पास एबी डिविलियर्स जैसी क्षमता नहीं है, उसके पास संभवत: जाक कैलिस या ब्रायन लारा जैसी क्षमता नहीं है।’

बायें हाथ के इस बल्लेबाज से पूछा गया था कि भारतीय कप्तान के क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में सफल होने के क्या कारण हैं। टी20 विश्व कप 2007 और वनडे विश्व कप 2011 की विजेता टीम के सदस्य रहे गंभीर ने कहा, ‘उसका सबसे मजबूत पक्ष उसकी फिटनेस है और उसने इसे अपने खेल में अच्छी तरह से ढाला है। यही वजह है कि वह इतना सफल है इसलिए इसका श्रेय उसे जाता है।’ उन्होंने कहा, ‘सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि वह विकेटों के बीच बहुत अच्छी तरह से दौड़ लगाता है, बहुत अधिक बल्लेबाज ऐसा नहीं कर पाते हैं।’ कोहली इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भी सफल रहे हैं जहां उन्होंने 177 मैचों में 5412 रन बनाये हैं।

गंभीर ने कहा, ‘क्रिकेट जगत में इस समय बहुत कम क्रिकेटर हैं जो हर गेंद पर स्ट्राइक बदल सकते हैं और विराट कोहली यह काम बहुत अच्छी तरह से करता है और इसलिए वह बाकी सबसे भिन्न है।’ गंभीर ने कहा कि जब स्ट्राइक रोटेट करने की बात आती है तो कोहली में अपने साथी और स्टार बल्लेबाज रोहित शर्मा की तुलना में अधिक निरंतरता दिखती है।

उन्होंने कहा, ‘आप रोहित शर्मा को ही देख लो, स्ट्राइक रोटेट करने में मामले में रोहित शर्मा में वह खूबी नहीं है जो विराट कोहली में है। रोहित शर्मा के पास बड़े शॉट लगाने का कौशल है लेकिन इस (स्ट्राइक रोटेट) मामले में रोहित शर्मा की तुलना में विराट कोहली में अधिक निरंतरता है। गंभीर ने कहा, ‘क्रिस गेल या एबी डिविलियर्स में विशेषकर स्पिनरों के सामने स्ट्राइक रोटेट करने का कौशल नहीं है लेकिन विराट कोहली के पास है और इसलिए उसका औसत 50 से ऊपर है।’

comments

.
.
.
.
.