Sunday, Jan 19, 2020
gandhi-family-security-tight-after-a-lapse-in-security

सुरक्षा में चूक के बाद गांधी परिवार की सुरक्षा कड़ी, बिना वेरिफिकेशन के घर में नहीं जा सकेगी गाड़ी

  • Updated on 12/5/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) के घर की सुरक्षा में भारी चूक के बाद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) ने एसओपी को रिव्यू किया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अब से राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी के घर में बिना पुष्टि के दूसरे रिश्तेदारों की गाड़ियां नहीं जा सकेगी।

केंद्र सरकार (Central Government) ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, डॉ. मनमोहन सिंह और मनमोहन सिंह की पत्नी की एसपीजी सुरक्षा हटाने के बाद सीआरपीएफ की जेड प्लस सुरक्षा दी थी। लेकिन अब सीआरपीएफ ने एसओपी को रिव्यू किया है, इसलिए अब नए एसओपी के आधार पर सुरक्षा के कदम उठाए गए हैं।

गांधी परिवार ही नहीं, पूरे देश की सुरक्षा के साथ समझौता किया जा रहा : रॉबर्ट वाड्रा

अनुमति लिए बिना एक गाड़ी प्रियंका के आवास पर
गौरतलब है कि पिछले सप्ताह कुछ लोग अनुमति लिए बिना एक गाड़ी से प्रियंका के लोधी एस्टेट स्थित आवास में घुस आए। ये लोग प्रियंका के साथ सेल्फी लेने को कह रहे थे। सूत्रों का कहना है कि प्रियंका के कार्यालय ने इस मामले को सीआरपीएफ के समक्ष उठाया है।

इस विषय पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी का कहना है कि उन्हें कांग्रेस नेता प्रियंका की सुरक्षा में कथित सेंध के बारे में जानकारी नहीं है और वह इस बारे में पता करेंगे। उल्लेखनीय है कि हाल ही में सरकार ने गांधी परिवार को मिली एसपीजी सुरक्षा हटा ली। अब उन्हें जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है जिसमें सीआरपीएफ के जवान सुरक्षा संभालते हैं।

SPG हटने के बाद CRPF कर रही सोनिया गांधी के घर की सुरक्षा व्यवस्था का मुआयना

वेणुगोपाल ने कहा कांग्रेस नेताओं के जीवन को है खतरा 
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल (K. C. Venugopal) ने मंगलवार को दावा किया कि एसपीजी सुरक्षा हटाकर मुख्य विपक्षी दल के शीर्ष नेताओं के जीवन को खतरे में डाला गया है। पार्टी के संगठन महासचिव वेणुगोपाल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘तुच्छ राजनीतिक लाभ के लिए सरकार को किसी के जीवन को खतरे में नहीं डालना चाहिए। प्रियंका गांधी के आवास पर सुरक्षा में लगी सेंध से यह बात साबित होती है कि एसपीजी सुरक्षा हटाकर नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने हमारे नेताओं के जीवन को खतरे में डाल दिया है।’’  

गौरतलब है कि हाल ही में सरकार ने गांधी परिवार से एसपीजी हटा ली। अब उन्हें जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है जिसमें सीआरपीएफ के जवान सुरक्षा संभालते हैं। 

प्रियंका गांधी की सुरक्षा में बड़ी चूक, बिना इजाजत घर में घुसी गाड़ी

कानून में संशोधन कर दी गई थी गांधी परिवार को सुरक्षा
संसद द्वारा 1988 में लागू एसपीजी कानून को शुरुआत में केवल देश के प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्रियों को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए बनाया गया था। राजीव गांधी की हत्या के बाद पूर्व प्रधानमंत्रियों के करीबी परिजनों को इस सुरक्षा घेरे में शामिल करने के लिए कानून में संशोधन किया गया जिससे सोनिया गांधी के साथ-साथ उनके बच्चों को एसपीजी सुरक्षा मिलने का मार्ग प्रशस्त हुआ। देश में प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए अलग बल बनाने की जरूरत तब महसूस की गई जब 31 अक्टूबर 1984 को इंदिरा गाधी की उनके अंगरक्षकों ने हत्या कर दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.