Thursday, May 13, 2021
-->
ganesh chaturthi 2020 worship lord ganesh in this way all bad things will happen prshnt

Ganesh Chaturthi 2020: ऐसे करें भगवान गणेश की पूजा, बनेंगे सारे बिगड़े काम

  • Updated on 9/1/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में 22 अगस्त 2020 से गणपति स्थापना के साथ गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2020) की मनाई जाएगा। पैनिक मान्यताओं के अनुसार देवी देवताओं में सबसे पहले भगवान गणेश की पूजा की जाती है। सनातन परंपरा में किसी भी कार्य का शुभारंभ गणपति बप्पा के पूजन से होता है। भगवान गणपति का जन्म भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी के दिन हुआ था, इस दिन को सनातन परंपरा में गणेश चतुर्थी के रूप में माना जाता है। जिसकी शरुआत इस साल 21 अगस्त को रात 11:02 बजे से होकर 22 अगस्त 2020 को शाम 7:57 बजे तक रहेगी। 

जन्माष्टमी 2020: इन मंदिरों में भगवान कृष्ण का दिखता है अनोखा रूप, आप भी हो जाएंगे मंत्रमुग्ध

विधि-विधान से करें भगवान गणेश की पूजा
गणेश चतुर्थी के दिन भगवान गणेश की पूजा की विधि-विधान से करने पर शौभाग्य प्राप्त होता है। गणेश जी की पूजा बहुत ही सरल है। अगर उन्हें सिर्फ हरी दूब यानी घास भी चढ़ा दें तो वो प्रसन्न होकर आपके सारे विघ्न-बाधाएं हर लेते हैं। श्री गणेश जी शुभ और लाभ दोनों का आशीर्वाद देने वाले देवता हैं।

भोपाल: त्योहारों पर कोरोना की मार, इस साल गणेश उत्सव- जलसे पर लगी रोक

आइए जानते हैं भगवान गणेश की पूजा विधि
गणपति बप्पा का जन्म दोपहर के समय हुआ था। ऐसे में श्री गणेश जी का पूजन 22 अगस्त को दोपहर में करना शुभ माना जाता है। गणेश चतुर्थी के दिन दोपहर के समय गणपति की मूर्ति या फिर उनका चित्र लाल कपड़े के ऊपर रखें। फिर गंगाजल या फिर शुद्ध जल छिड़कने के बाद दोनों हाथ से भगवान गणेश का आह्वान करें और अपने पूजा घर में पधारने का गणेश जी से अनुरोध करें।

मंत्रोच्चार से उनका पूजन करें और फिर भगवान गणेश के माथे पर सिंदूर से टीका लगाएं। इसके बाद गणपति बप्पा को उनके सबसे प्रिय मोदक यानी लड्डू, पुष्प, सिंदूर, जनेऊ और 21 दूर्वा चढ़ाएं। पूजन के बाद पांच लड्डू प्रतिमा के पास छोड़ दें और पांच लड्डू ब्राह्मणों को दें। बाकि प्रसाद के रूप में अपने परिवार में बांट दें। इस विधि से पूजा करने पर भगवान गणेश प्रसन्न होकर सारी मनोकामना पूरी करते हैं।

 

comments

.
.
.
.
.