ganga-dusshera-2019-these-are-the-pooja-vidhi-read-the-story-in-hindi

गंगा दशहरा 2019: ये है गंगा की पूजा का सही मुहूर्त, ऐसे पूजा करने से होगी सभी मनोकामनाएं पूरी

  • Updated on 6/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हिन्दूओं का पर्व गंगा दशहरा (Ganga Dusshera) इस बार 12 जून 2019 को पड़ रहा है। माना जा रहा है कि 75 साल बाद गंगा दशहरा पर इस साल 10 अच्छे योग बन रहा है जिससे आपकी सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाएंगी। गंगा स्नान पर दान, पुण्य और गंगा में स्नान करना काफी शुभ माना जाता है।

इसके अलावा पौराणिक कथाओं के अनुसार ज्येष्ठ शुक्ल दशमी, बुधवार के दिन, हस्त नक्षत्र में गंगा स्वर्ग से धरती पर आई थी। गंगा दशहरा एक बहुत ही शुभ पर्व होता है इस दिन पूजा करने से पहले सुबह उठकर गंगा में स्नान करना अति आवश्यक होता है और अगर गंगा नदी (Ganga River) नहीं भी हो तो आप अपने घर में स्नान कर सकते हैं इसके अलावा अगर आपके शहर में कोई नदी हो तो उसमें भी स्नान कर सकते हैं।

सपने में अगर दिखते हैं सांप तो ये हो सकते हैं भविष्य में शुभ और अशुभ के संकेत

वहीं इस दिन पूजा करने के लिए मंत्र को उच्चारण करना चाहिए और 10 दीपक, अलग प्रकार के फूल और अलग प्रकार के फलों का भोग चढ़ाना चाहिए ऐसा करने पर गंगा मां खुश होती हैं। मंत्र उच्चारण के लिए पूजा के समय ऊँ नम: शिवाय नारायण्यै दशहराय गंगाय नम: का जाप करना चाहिए। साथ ही इस दिन हमें कई प्रकार के चीजों का दान करना चाहिए जैसे पूजा के बाद ठंडे फल, मटका, पंखां, सत्तू, केला आदि चीजों का दान करें ऐसा करने से जीवन में सुख-समृद्धि आएगी।

उत्तराखण्ड स्थित इस मंदिर में आज भी होते हैं मां काली के दिव्य दर्शन

क्या है इसके पीछे कि पौराणिक मान्यता

माना जाता है जब ऋषि भागीरथ (Bhagirath) अपने पूर्जों की आत्मा की शांति के भगवान शिव के पास गए थे जहां उन्होंने गंगा मां को धरती पर लाने कि मांग कि थी। गंगा मां कि वेग में इतनी गति थी कि अगर वे धरती पर आती तो धरती फट सकती थी साथ ही विनाश भी होता और मां गंगा उसी धरती में समा जाती लेकिन भगवान शिव ने इसका निर्वारण ढुंढ़ते हुए गंगा मां को अपनी जटाओं में समाहित कर लिया जिसके बाद गंगा और भी पवित्र कहलाने लगी। इसके बाद भगवान शिव (Lord Shiva) ने अपनी जटाओं को खोलकर मां गंगा को धरती पर अवर्तरित किया जिसके बाद गंगा लोगों के जीवन और उनके पाप से उन्हें मोक्ष दिलाने का जरिया बन गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.