Wednesday, Jan 20, 2021

Live Updates: Unlock 8- Day 19

Last Updated: Tue Jan 19 2021 10:42 PM

corona virus

Total Cases

10,596,107

Recovered

10,244,677

Deaths

152,743

  • INDIA10,596,107
  • MAHARASTRA1,994,977
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA931,997
  • KERALA911,382
  • TAMIL NADU831,866
  • NEW DELHI632,821
  • UTTAR PRADESH597,238
  • WEST BENGAL565,661
  • ODISHA333,444
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • RAJASTHAN314,920
  • JHARKHAND310,675
  • CHHATTISGARH293,501
  • TELANGANA290,008
  • HARYANA266,309
  • BIHAR258,739
  • GUJARAT252,559
  • MADHYA PRADESH247,436
  • ASSAM216,831
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB170,605
  • JAMMU & KASHMIR122,651
  • UTTARAKHAND94,803
  • HIMACHAL PRADESH56,943
  • GOA49,362
  • PUDUCHERRY38,646
  • TRIPURA33,035
  • MANIPUR27,155
  • MEGHALAYA12,866
  • NAGALAND11,709
  • LADAKH9,155
  • SIKKIM5,338
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,983
  • MIZORAM4,322
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,374
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
gautam adani adani group offers to increase its bid to acquire dhfl rkdsnt

अडाणी ग्रुप ने की DHFL के अधिग्रहण के लिए अपनी बोली बढ़ाने की पेशकश

  • Updated on 11/29/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। गौतम अडानी (Gautam Adani) के अडानी समूह ने इस बात के संकेत दिए हैं कि वह संकटग्रस्त आवास ऋण कंपनी डीएचएफएल के लिये अपनी 33 हजार करोड़ रुपये की पेशकश को बढ़ा सकता है। हालांकि कंपनी ने उन बोलीदाताओं का जमा जब्त करने की मांग की है, जो सार्वजनिक धन की अधिकतम वसूली पर सवाल पैदा कर प्रक्रिया में खलल डालना चाहते हैं। 

आंदोलन पर अड़े किसान संगठन नहीं जाएंगे बुराड़ी, बताया 'खुली जेल'

अडानी समूह ने दिवाला एवं ऋणशोधन प्रक्रिया के तहत डीएचएफएल की नीलामी करा रहे प्रशासक को ईमेल के माध्यम से एक पत्र भेजा है। इसमें अडानी समूह ने कहा है कि उसने अच्छे से तय प्रक्रिया का पालन किया है। कंपनी ने कहा है कि उसकी नीयत प्रक्रिया का तेजी से अनुपालन सुनिश्चित कराते हुए बिना शर्त पेशकश करने और सभी संबंधित पक्षों के लिये संभावित मूल्यों को अधिकतम करने की रही है।     इस ईमेल को डीएचएफएल के डेटा रूम में अपलोड किया गया है। अडानी समूह ने इसमें कहा है कि कुछ बोलीदाता मामले को सनसनी बनाने के लिये मीडिया का सहारा ले रहे हैं और उनकी नीयत कर्जदाताओं व जमाकर्ताओं के लिये मूल्य को अधिकतम किये जाने से रोकने की है। अडानी समूह ने कहा कि यह सब देखकर दुख होता है। 

एमसीडी चुनाव से पहले दिल्ली कांग्रेस के पुनर्गठन तैयारी शुरू

डीएचएफएल के लिये अक्टूबर में अडानी समूह, पीरामल समूह, अमेरिका स्थित संपत्ति प्रबंधन कंपनी ओकट्री कैपिटल मैनेजमेंट और एससी लॉवी ने बोलियां पेश की थी। हालांकि, डीएचएफल के कर्जदाता चाहते हैं कि बोलीदाता अपनी पेशकश बढ़ायें, क्योंकि बोलीदाताओं की मौजूदा पेशकश कम है। कर्जदाताओं की समिति के एक सूत्र ने बताया कि अडानी समूह ने शुरुआत में सिर्फ डीएचएफएल की थोक व झुग्गी पुनर्वास प्राधिकरण पोर्टफोलियो के लिये बोली पेश की थी। बाद में अडानी समूह ने बोली संशोधित कर पूरे पोर्टफोलियो के लिये पेशकश की थी। यह पेशकश 30 हजार करोड़ रुपये की है। इसके अलावा समूह ने तीन हजार करोड़ रुपये के ब्याज की पेशकश की है। 

ईडी निदेशक मिश्रा के कार्यकाल में संशोधन के खिलाफ प्रशांत भूषण ने दायर की याचिका

अडानी समूह की यह पेशकश ओकट्री की 28,300 करोड़ रुपये की पेशकश से अधिक है। ओकट्री ने यह पेशकश इस शर्त के साथ की है कि वह बीमा दावों को लेकर एक हजार करोड़ रुपये रोककर रखेगी। पीरामल समूह ने डीएचएफल के खुदरा पोर्टफोलियो के लिये 23,500 करोड़ रुपये की पेशकश की है।

मोदी सरकार ने दिया सार्वजनिक क्षेत्र की बीमा कंपनियों को अपने खर्चो में कटौती करने का निर्देश

हांगकांग की कंपनी एससी लॉवी ने झुग्गी पुनर्वास प्राधिकरण पोर्टफोलियो के लिये 2,350 करोड़ रुपये की पेशकश की है। अडानी की पेशकश के तुरंत बाद प्रतिस्पर्धी बोलीदाता धांधली की शिकायत करने लगे। इनका तर्क रहा कि अडानी ने समयसीमा पार होने के बाद बोली पेश की है और वह अपनी मूल योजना का विस्तार नहीं कर सकती है।

कांग्रेस बोली- ‘काले कानूनों’ के खत्म होने तक लड़ाई जारी रहेगी, किसानों से बात करें पीएम मोदी

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.