Sunday, Dec 15, 2019
giriraj-said-after-shiv-sena-left-nda-bala-saheb-thackeray-will-be-moaning-today

शिवसेना के NDA छोड़ने पर बोले गिरिराज, आज कराह रहे होंगे बाला साहेब ठाकरे

  • Updated on 11/12/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। महाराष्ट्र (Maharashtra) में राजनीतिक सरगर्मी शांत होती नजर नहीं आ रही है। सोमवार को बीजेपी-शिवसेना गठबंधन के बीच 50-50 फॉर्मुले पर बात न बनने के कारण शिवसेना एनडीए से अलग हो गई। 30 साल पुरानी बीजेपी-शिवसेना की दोस्ती टूटने पर गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने एक बड़ा बयान दिया है।

प्रधानमंत्री की तस्वीर के दुरुपयोग पर होगी जेल, 5 लाख तक का जुर्माना

शिवसेना ने राज्य में ढाई-ढाई साल के मुख्यमंत्री पद को लेकर बात न बनने के कारण बीजेपी से अलग होने का फैसला लिया। शिवसेना (Shiv sena) के इस अहम फैसले पर बीजेपी (BJP) के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने तंज कसते हुए कहा, आज बाला साहेब कराह रहे होंगे।

शिवसेना ने सरकार गठन के लिए मांगा समय, राज्यपाल ने किया इंकार

बाला साहेब ने किया एकजुट
सांसद व बीजेपी (BJP) नेता गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने एक ट्वीट में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के साथ बालासाहेब की एक पुरानी फोटो को शेयर करते हुए लिखा कि बाला साहेब के सालों की तपस्या ने सनातनियों को महाराष्ट्र में एक उम्मीद और पहचान दी। आज हिंदुत्व विरोधियों के साथ जाता देख बाला साहेब और शिवसैनिक कराह रहे होंगे। इतिहास गवाही देगा की कैसे बालासाहेब ने सबको एक किया और कुछ ने सबको बिखेर दिया।

giriraj singh

पहली बार नहीं टूटा BJP-SHIVSENA का गठबंधन, जानें पूरा इतिहास

2014 में भी लड़ा था अलग चुनाव
बता दें, सूबे में मुख्यमंत्री पद को लेकर शिवसेना (Shiv sena) ने बीजेपी (BJP) से अलग होने का निर्णय लिया। शिवसेना (Shiv sena) महाराष्ट्र (Maharashtra) में ढाई-ढाई साल तक महाराष्ट्र (Maharashtra) मुख्यमंत्री का पद चाहती थी, लेकिन बीजेपी इसके लिए तैयार नहीं हुई। नतीजतन, 30 साल पुरानी राजनीतिक दोस्ती में दरार पड़ गई। इससे पहले साल 2014 का महाराष्ट्र (Maharashtra) विधानसभा चुनाव भी दोनों पार्टियों ने अलग लड़ा था, लेकिन बाद में शिवसेना (Shiv sena) के समर्थन से ही बीजेपी (BJP) ने राज्य में सत्ता हासिल की थी।     

comments

.
.
.
.
.