Wednesday, Apr 14, 2021
-->
glanders threat comes in delhi Amid Coronavirus Pandemic KMBSNT

कोरोना संकट के बीच दिल्ली में आया ग्लैंडर्स का खतरा, घोड़ों को छूने से फैलती है बीमारी

  • Updated on 7/3/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में कोरोना संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ रहा है, वहीं इस बीच एक नए खतरे की आहट सुनाई दी है। ये खतरा है ग्लैंडर्स बीमारी का जो घोड़ो में होती है। दिल्ली में एक घोड़ा ग्लैंडर्स संक्रमित मिला है, इसका इस्तेमाल शादी समारोह और अन्य कामों में हुआ है। ऐसे में दिल्ली के लोगों के लिए खतरा बढ़ गया है। ये बीमारी ग्लैंडर्स संक्रमित घोड़े को छूने मात्र से हो जाती है। 

पेटा इंडिया इस बीमारी को लेकर चिंतित है। पेटा ने दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इस बीमारी के बारे में सूचित किया है और कहा है कि वो इस समय घोड़ों और खच्चरों के इस्तेमाल पर फिलहाल रोक लगा दें। पेटा इंडिया के अनुसार दिल्ली में 2019 में 8 और इससे एक साल पहले यानी 2018 में 40 घोड़े ग्लैंडर्स संक्रमित पाए गए थे। 

Corona Effect: स्कूल बंद लेकिन पढ़ाई रहेगी जारी, जानें क्या है केजरीवाल सरकार की योजना

'घोड़ों के इस्तेमाल पर रोक लगाए सरकार'
पेटा इंडिया का कहना है कि उस वक्त बीमारी का पता चलने पर कोई एक्शन नहीं लिया गया था। अब जबकी पहले से ही दिल्ली कोरोना संकट से जूझ रही है तो सावधानी बरती चाहिए। सरकार को घोड़ों के इस्तेमाल, सामान ढोने और शादी समारोह में इनके इस्तेमाल पर रोक लगानी चाहिए। 

लोकनायक के बाद अब दिल्ली के इन अस्पतालों में भी मरीज कर सकेंगे वीडियो कॉल

गधों और खच्चरों में भी होती है ये बीमारी
ग्लैंडर्स बीमारी गधों और खच्चरों में भी होती है। इनका इस्तेमाल सवारी और सामना ढोने के लिए किया जाता है। वहीं छूने भर से ये बीमारी इंसानो में फैल सकती है, और अगर समय पर पता न लगे और इलाज न मिले तो ये जानलेवा हो सकता है। साल 2010 में एमसीडी ने टांगो पर बैन इसी बीमारी के कारण लगाया था। अब पहले से संकट से जूझ रही दिल्ली को एक नए खतरे के लिए पेटा इंडिया ने आगाह कर दिया है। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-

comments

.
.
.
.
.