Tuesday, Sep 28, 2021
-->
goa-bjp-government-will-move-high-court-against-acquittal-of-tarun-tejpal-rkdsnt

तेजपाल को बरी किये जाने के खिलाफ हाई कोर्ट का रुख करेगी गोवा सरकार: मुख्यमंत्री 

  • Updated on 5/21/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शुक्रवार को कहा कि राज्य सरकार बलात्कार के मामले में पत्रकार तरुण तेजपाल को बरी करने के यहां की एक अदालत के निर्णय के खिलाफ उच्च न्यायालय का रुख करेगी। मापुसा की एक सत्र अदालत ने गोवा में एक पांच सितारा होटल की लिफ्ट में साथी महिला के यौन उत्पीडऩ के मामले में शुक्रवार को तेजपाल को बरी कर दिया है। 

भाजपा सांसद व केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान के दूसरे भाई की भी कोरोना से मौत

सावंत ने पत्रकारों से कहा,‘‘हम गोवा में महिलाओं के साथ किसी भी तरह के अन्याय को बर्दाश्त नहीं करेंगे। हम जिला अदालत के इस निर्णय को जल्द ही उच्च न्यायालय में चुनौती देंगे।‘‘ सावंत ने कहा कि उन्होंने उच्च न्यायालय का रुख करने को लेकर इस मामले के लोक अभियोजक और जांच अधिकारी के साथ व्यक्तिगत रूप से चर्चा की है।  

पात्रा के ट्वीट पर Twitter के कदम से ‘नकली कागज बनाने वाली’ BJP की पोल खुली: कांग्रेस

सावंत ने दावा किया कि आरोपी के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं। गोवा पुलिस ने नवंबर 2013 में तेजपाल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। गोवा की अपराध शाखा ने तेजपाल के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था। वह मई 2014 से जमानत पर थे। 

राजस्थान हाई कोर्ट ने स्वयंभू बाबा आसाराम को दिया झटका, जमानत याचिका खारिज

तेजपाल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (भादंसं) की धारा 342 (गलत तरीके से रोकना), 342 (गलत तरीके से बंधक बनाना), 354 (गरिमा भंग करने की मंशा से हमला या आपराधिक बल का प्रयोग करना), 354-ए (यौन उत्पीडऩ), धारा 376 की उपधारा दो (फ) (पद का दुरुपयोग कर अधीनस्थ महिला से बलात्कार) और 376 (2) (क) (नियंत्रण कर सकने की स्थिति वाले व्यक्ति द्वारा बलात्कार) के तहत मुकदमा चला।      

कोरोना संकट में अपनी मांगों को लेकर ट्रेड यूनियनों ने काला दिवस मनाने का किया ऐलान

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.