Friday, Jan 24, 2020
gold-demand-decreased-by-60-percent-in-rural-india

ग्रामीण भारत में 60 फीसदी घटी सोने की मांग

  • Updated on 12/7/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। ग्रामीण भारत (Rural India) में हर साल खरीफ सीजन की फसलों की कटाई के बाद सोने की मांग में तेजी देखी जाती है। किसान निवेश के लिए सोने की खरीदारी करते हैं। हालांकि इस साल ग्रामीण इलाकों में निवेश के लिए सोने की मांग में पिछले साल की तुलना में 50 से 60 प्रतिशत की गिरावट आई है। मानसून सीजन में भारी बारिश से फसलों को हुए नुक्सान के चलते किसानों ने इस साल सोने से दूरी बनाई हुई है। वह सिर्फ शादी के मकसद से सोना खरीद रहे हैं और वह भी काफी कम मात्रा में। देश में सालाना 850-900 टन सोने की खपत होती है जिसमें ग्रामीण भारत का करीब 60 प्रतिशत हिस्सा है। 

RBI ने GDP ग्रोथ अनुमान घटाकर किया 5%, रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं

महाराष्ट्र (Maharashtra) के अकोला के एक ज्यूलर नितिन खंडेलवाल (Nitin Khandelwal) ने बताया कि भारी बारिश के चलते मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक और पंजाब में फसलों को काफी नुक्सान पहुंचा है। इसके चलते पैदावार घटी है। सोयाबीन की फसल को खासतौर पर काफी नुकसान पहुंचा है। इन सब कारणों के चलते किसान उस तरह से सोना नहीं खरीद पा रहे हैं, जैसे वे हर साल खरीफ  फसलों की कटाई के बाद करते थे। कैलेंडर ईयर 2019 की तीसरी तिमाही में निवेश के लिए सोने की मांग पिछले साल की तुलना में 35 प्रतिशत घटकर 22.3 टन रही। ज्यूलरों को उम्मीद थी कि खरीफ फसलों की कटाई के बाद मांग में बढ़ौतरी होगी। खंडेलवाल ने बताया कि हालांकि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ बल्कि इसके उलट मांग और कम हो गई।

पहली तिमाही में सोने की डिमांड में भारी कमी, 12 फीसदी घटी मांग

सोने की ऊंची कीमतें भी वजह 
सोने की ऊंची कीमतें भी निश्चित तौर पर ग्राहकों को सोना खरीदने से रोक रही हैं, फिर चाहे ग्रामीण इलाका हो या शहरी। साल की शुरूआत से अभी तक सोने की कीमत 22 प्रतिशत चढ़ चुकी है। पहली जनवरी को सोने की कीमत 31,368 रुपए प्रति 10 ग्राम थी। आज यह मार्कीट में 39,350 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया है। ऑल इंडिया जेम्स एंड ज्वेलरी डोमेस्टिक काउंसिल के चेयरमैन अनंत पद्मनाभन ने बताया कि केवल ग्रामीण इलाकों में ही मांग नहीं घटी है। दीवाली और फैस्टिव सीजन के बाद से निवेश के लिए सोने की कुल मांग में ही गिरावट आई है। मार्कीट काफी मंदी है।

डिस्काऊंट पर बेचने को मजबूर 
मार्कीट में कम मांग के चलते बुलियन डीलर्स को 3 डालर प्रति ट्रॉय औंस के डिस्काऊंट पर सोना बेचने को मजबूर होना पड़ रहा है। ऋद्धिसिद्धि बुलियंस के डायरेक्टर मुकेश कोठारी ने बताया कि पिछले हफ्ते तक सोने पर किसी तरह का डिस्काऊंट नहीं था क्योंकि इसकी कीमतें 37,500 रुपए प्रति 10 ग्राम तक नीचे आ गई थीं। ऐसे में ज्यूलर्स इसका स्टॉक जुटा रहे थे। हालांकि इस हफ्ते कीमतें फिर से 38,500 रुपए के स्तर को पार कर गईं जिससे दोबारा मांग कम हो गई। 

PM ‘आशा योजना’ से किसानों में निराशा, सिर्फ 3 फीसद लक्ष्य हुआ पूरा

सोना 130 रुपए टूटा, चांदी 100 रुपए उतरी
दिल्ली सर्राफा बाजार (Sarafa Bazar) में सोना 130 रुपए टूटकर 39,350 रुपए प्रति 10 ग्राम व चांदी 100 रुपए उतरकर 45,350 रुपए प्रति किलोग्राम बोली गई। न्यूयार्क (New York) और लंदन (London) से मिली जानकारी के अनुसार सोना हाजिर 0.10 डॉलर टूटकर 1475.50 डॉलर प्रति औंस पर रहा।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.