Monday, Dec 09, 2019
good understanding between me and pant saha

मेरे और ऋषभ पंत के बीच अच्छी समझ: ऋद्धिमान साहा

  • Updated on 10/18/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारतीय टेस्ट टीम में जगह बनाने को लेकर ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) और ऋषभ पंत (Rishabh Pant) के बीच तगड़ी प्रतिस्पर्धा है लेकिन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ श्रृंखला में अंतिम एकादश में जगह बनाने वाले साहा ने कहा कि इससे दोनों विकेटकीपरों के बीच रिश्ते प्रभावित नहीं हुए हैं। कंधे में चोट के कारण साहा लगभग 20 महीने तक भारतीय टीम से बाहर रहे लेकिन उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जारी मौजूदा श्रृंखला में वापसी करते हुए शानदार प्रदर्शन किया। साहा ने पुणे में खेले गये दूसरे टेस्ट में कुछ कमाल के कैच लपके।

IND VS S. AFRICA: क्लीन स्वीप करने और 40 अंक हासिल जुटाने उतरेगा भारत

साहा छह दिन के बाद अपना 35वां जन्मदिन मनाएंगे। टीम के अभ्यास सत्र के दौरान साहा को कई बार पंत की मदद करते देखा गया। श्रृंखला के तीसरे और आखिरी टेस्ट की पूर्व संध्या पर जब साहा से पूछा गया कि क्या वह पंत के मेंटोर की भूमिका निभा रहे हैं तो उन्होंने कहा, ‘‘ नहीं, ऐसा कुछ नहीं है। हम बस वैसी ही चर्चा करते हैं जैसे विकेटकीपर आपस में करते हैं। श्रीधर (क्षेत्ररक्षक कोच), पंत और मैं मिलकर फैसला करते हैं कि किस तरह के विकेट पर कैसी कीपिंग करनी है।’’  

तेंदुलकर को BCCI अध्यक्ष के रूप में गांगुली से अच्छी पारी की उम्मीद

साहा ने कहा कि उनके बीच तालमेल अच्छा है जो एक साथ काम करने को आसान बनाता है। उन्होंने कहा, ‘‘हम हमेशा एक-दूसरे की विकेटकीपिंग को देखते हैं। हम अपने अभ्यास सत्र में कड़ी मेहनत करते हैं और हमारे बीच अच्छी समझ और समन्वय है। हम हमेशा एक-दूसरे की गलतियों को बताने की कोशिश करते हैं। यह अब तक अच्छा चल रहा है।’’ साहा नेट सत्र के दौरान भारतीय कप्तान विराट कोहली की बल्लेबाजी को करीब से देख रहे थे। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं विकट की उछाल को भांपने की कोशिश कर रहा था। इसलिए मैं कोहली के पीछ खड़ा था, इससे मदद मिलती है।’’

भारत- PAK के बीच क्रिकेट सीरीज को लेकर सौरव गांगुली ने कही ये बात

साहा को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ कीपरों में गिना जाता है लेकिन बीसीसीआई के निर्वाचित अध्यक्ष सौरव गांगुली का भी मानना है कि उन्हें बल्लेबाजी में सुधार करना होगा। साहा ने कहा, ‘‘टीम में जो भी खेलता है वह योगदान करना चाहता है। एक विकेटकीपर के तौर पर मैं मैदान पर कुछ समय बिताना चाहता हूं और अगर क्रीज पर मौजूद रहा तो मेरी कोशिश साझेदारी बनाने और अर्धशतक लगाने की होती है। हर कोई ऐसी कोशिश ही करता है। कभी बात बनती है कभी नहीं।   


Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।


 

comments

.
.
.
.
.