Wednesday, Aug 04, 2021
-->
Google map new coronvirus ANJSNT

कोरोना से जंग में आगे आया Google Map, ऐसे कर रहा है मदद

  • Updated on 6/11/2020

नई दिल्ली/कारदेखो.कॉम। कोरोना वायरस के खिलाफ चल रही जंग में गूगल मैप्स में एक नया फीचर जुड़ा है जो लोगों की काफी मदद करेगा। ट्रैफिक अलर्ट देने वाली ये नेविगेशन एप अब लोगों को भीड़भाड़ वाले इलाकों के बारे में भी आगाह करेगी। दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन ने अपने ऑफिशियल ब्लॉग पोस्ट में इस नए फीचर का खुलासा किया है, जहां एक कोने से दूसरे कोने में जाने के बारे में बताया गया है।

इन देशों में मिल रही है सर्विस
 इन दिनों ये चीज लोगों के लिए काफी जटिल हो गई है। पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन सेक्शन के अंतर्गत यह एप्लिकेशन कोरोना को लेकर सरकारी आदेशों की जानकारी भी देगी। उदाहरण के तौर पर यदि किसी राज्य की सरकार ने यह आदेश दिया है कि किसी विशेष पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग बिना मास्क पहने नहीं किया जा सकता है, तो गूगल मैप्स पर उसकी जानकारी आपको मिल जाएगी। फिलहाल ये सर्विस अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, ब्राजील, कोलंबिया, फ्रांस, भारत, मैक्सिको, नीदरलैंड, स्पेन, थाईलैंड, यूनाइटेड किंगडम और अमेरिका में दी जा रही है। 

जुलाई में CBSE की बोर्ड परीक्षा के खिलाफ SC में याचिका दायर, अभिभावकों ने उठाए ये सवाल

अब अंतरिक्ष की सैर कराएगा Google Map, देख ...

गूगल ने पिछले साल ही पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए 'क्राउडीनैस' नामक फीचर जोड़ा था। कोविड-19 के चलते अब इस एप के जरिए यूजर रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट या बस स्टैंड पर भीड़ की स्थिति के बारे में जानकारी पा सकेंगे। 

निगेटिव को बता रहे कोरोन पॉजिटिव, नोएडा में लैब्स के फर्जीवाड़े का खुलासा

कोविड-19 को लेकर उठाया ये कदम
यदि आप अपने प्राइवेट व्हीकल से कहीं आसपास जाते हैं तो गूगल मैप्स एप्लिकेशन आपको आपके मार्ग पर कोविड-19 चेकपोस्ट के बारे में चेतावनी भी देगा और साथ ही ये आपकी यात्रा को किस तरह से प्रभावित कर सकता है इसके बारे में भी बताएगा। फिलहाल ये सर्विस यूएस, कनाडा और मैक्सिको में ही उपलब्ध है।

दिल्ली में कोरोना के 67 नए पॉजिटिव ...

यदि आप कोई चिकित्सा सुविधा लेने जा रहे हैं तो यह एप्लिकेशन आपकी एलिजिबिलीटी क्राइटिरिया को वैरिफाय करेगी और आपको उस अस्पताल या क्लीनिक के दिशा-निर्देशों के बारे में जानकारी देगा। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि आप अपने गंतव्य तक पहुंचने के बाद उस अस्पताल या क्लीनिक को इस वायरस से प्रभावित ना कर सके। यह फीचर इंडोनेशिया, इजरायल, फिलीपींस, साउथ कोरिया और अमेरिका में उपलब्ध है। 

comments

.
.
.
.
.