Saturday, Jan 22, 2022
-->
gopal rai said around 70 percent people did not burn firecrackers on diwali in diwali pragnt

दिवाली पर दिल्ली सरकार ने पेश की मिसाल, 70 प्रतिशत लोगों ने नहीं जलाए पटाखे

  • Updated on 11/16/2020

नई दिल्ली /टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने सोमवार को कहा कि आप सरकार के पटाखे जलाने पर प्रतिबंध लगाने के बाद शहर में इस बार दीपावली पर करीब 70 प्रतिशत लोगों ने पटाखे नहीं जलाए और अगले साल नतीजे इससे बेहतर होंगे। उन्होंने कहा कि प्रदूषण की समस्या का दीर्घकालिक उपाय 'एक दिन में नहीं खोजा जा सकता।'

दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर खत्म, नहीं लगेगा लॉकडाउन: सत्येंद्र जैन

70 प्रतिशत लोगों ने नहीं जलाए पटाखे- राय
राय ने पत्रकारों से कहा, 'सरकार के पटाखे जलाने पर प्रतिबंध लगाने के बाद शहर के करीब 70 प्रतिशत निवासियों ने पटाखे नहीं जलाए। मैं उम्मीद करता हूं कि अगले साल नतीजे और बेहतर होंगे।' दिल्ली सरकार ने पांच नवंबर को शहर में सभी तरह के पटाखों की बिक्री और इनके इस्तेमाल पर 30 नवंबर तक के लिए प्रतिबंध लगा दिया था। वहीं, राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में नौ नवंबर मध्यरात्रि से लेकर 30 नवंबर आधी रात तक सभी प्रकार के पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर पूर्ण प्रतिबंध लगा रखा है।

दिल्ली: दिवाली में NGT के नियमों का हुआ उल्लंघन, पुलिस ने 850 लोगों को किया गिरफ्तार

पराली को लेकर बताया समाधान
राय ने 'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' के दूसरे चरण की शुरुआत करते हुए कहा कि पूसा स्थित भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान द्वारा बनाया गया 'बायो-डी कम्पोजर' पराली जलाने का दीर्घकालिक समाधान है। पूसा स्थित भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों के अनुसार इस मिश्रण से 15 से 20 दिन में पराली को खाद में बदला जा सकता है, जिससे इसे जलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

दिल्ली में सीजन की पहली बारिश से बढ़ी ठिठुरन, आज भी कई राज्यों में बारिश की संभावना

सिसोदिया ने कहा ये
इस दौरान उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा, 'प्रदूषण के लिए कई कारक जिम्मेदार हैं, अगर यह वाहनों की वजह से है तो उनकी संख्या कम की जाए, या 'रेड लाइट' पर इन्हें बंद किया जाए। अगर यह पराली जलाने की वजह से है तो पूसा के 'बायो-डी कम्पोजर' का इस्तेमाल किया जाए।' उपमुख्यमंत्री ने 'रेड लाइट ऑन,गाड़ी ऑफ' अभियान के दूसरे फेज की शुरुआत आईटीओ से की। इस दौरान उन्होंने बताया, 'पिछले 15 दिन ये अभियान बहुत सही चला है, आज से इसका दूसरा चरण शुरू हो रहा है मुझे उम्मीद है कि अगले 15 दिन भी ये अभियान सही चलेगा'

दिल्ली में कोरोना के बिगड़े हालात तो केंद्र ने संभाली कमान, तैनात होंगे CAPF के डॉक्टर

पुलिस ने 850 लोगों को किया गिरफ्तार
बता दें कि राजधानी दिल्ली में प्रदूषण को लेकर सभी तरीके के पटाखे पर बैन लगाया गया था। बावजूद इसके दिवाली की शाम पटाखों की आवाज से पूरी दिल्ली गूंज उठा था। हालांकि दिल्ली पुलिस की ओर से एनजीटी के आदेश का उल्लंघन करने पर कार्यवाई शुरू कर दी गई है। दिल्ली पुलिस की ओर से कहा गया कि पुलिस ने दिवाली के दिन 1206 मामले दर्ज किए हैं। वहीं करीब 850 लोगों को या तो गिरफ्तार किया गया या फिर उन्हें बाउंड किया गया। 

दिल्ली में 24 घंटे में कोरोना के 7,340 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 4.82 लाख पार

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी फोड़ी गई बम
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट और एनजीटी के आदेश के बाद भी दिवाली पर भारी तादाद में पटाखे फोड़े गए, जिसके कराण दिल्ली की वायु गुणवत्ता (AQI) बेहद खराब श्रेणी में दर्ज की गई है। दिल्ली के कई इलाकों में अभी भी स्मॉग की चादर छाई हुई है। प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) के अनुसार, आनंद विहार में एयर क्वालिटी (AQI) 481, आईजीआई एयरपोर्ट इलाके में 444, आईटीओ में 457 और लोधी रोड पर 414 रिकॉर्ड किया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.